Thursday, December 12, 2019
Home > featured > लोकतंत्र सेनानियों से माफी मांगे कांग्रेस सरकार: कौशिक

लोकतंत्र सेनानियों से माफी मांगे कांग्रेस सरकार: कौशिक

रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय द्वारा प्रदेश के लोकतंत्र सेनानियों को भाजपा सरकार द्वारा प्रदान की जाने वाली सम्मान निधि को कांग्रेस सरकार द्वारा फरवरी माह से बंद किए जाने के निर्णय को निरस्त किए जाने व तत्काल सम्मान निधि प्रारंभ कर बकाया राशि सेनानियों को प्रदान करने व भविष्य में यह कभी बंद ना किए जाने के निर्णय को ऐतिहासिक व लोकतंत्र की विजय निरुपित किया है।
नेता प्रतिपक्ष श्री कौशिक ने कहा कि प्रदेश सरकार ने बदलापुर की राजनीति के चलते लोकतंत्र सेनानियों की सम्मान निधि, पेंशन राशि व स्वास्थ्य सुविधा बंद कर सेनानियों को अपमानित किया है। माननीय उच्च न्यायालय के आदेश से यह साबित हो गया है कि यह सरकार निरंतर जनविरोधी व लोकतंत्र विरोधी कार्य कर रही है। श्री कौशिक ने कहा कि आजादी के बाद से कांग्रेस से विपरीत विचारधारा वाली सरकारें केन्द्र व राज्यों में आयी परन्तु कभी भी किसी सरकार ने स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के सम्मान व उनको मिलने वाली सुविधाओं को राजनीतिक नजरिये से नहीं देखा अपितु उसे और अधिक सुदृढ़ व सक्षम बनाने के ही निर्णय किए गए। नेता प्रतिपक्ष श्री कौशिक ने कहा कि माननीय न्यायालय का यह फैसला आजादी की दूसरी लड़ाई में शामिल सेनानियों के सम्मान बहाली की दिशा में ऐतिहासिक कदम बताया। कौशिक ने कहा कि उन्होंने भी अनेक बार इस विषय पर प्रदेश सरकार का ध्यान आकर्षण किया है और लगातार इस मुद्दे को सदन के पटल पर रखते रहे है लेकिन दुर्भाग्यवश कांग्रेस के कान पर जूं नही रेंगी। उन्होंने प्रदेश सरकार से आगे ऐसी दुर्भावना से बचते हुए संविधान और लोकतंत्र का सम्मान करने का आग्रह किया है और अपने कृत्य के लिए सीएम से माफी मांगने की बात भी की है।