Wednesday, October 23, 2019
Home > featured > गौरी-गौरा को उत्सव के रूप में मनाने का सरकार के निर्णय का कांग्रेस ने किया स्वागत

गौरी-गौरा को उत्सव के रूप में मनाने का सरकार के निर्णय का कांग्रेस ने किया स्वागत

रायपुर। गौरी-गौरा को उत्सव के रूप में मनाने के सरकार के निर्णय का कांग्रेस ने स्वागत किया। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि गौरी-गौरा को उत्सव के रूप में मनाने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार के निर्णय से स्पष्ट हो गया कि छत्तीसगढ़ के तीज त्यौहार लोक परंपरा सांस्कृतिक धरोहर को कांग्रेस सरकार सहेजने का काम कर रही है। पूर्ववर्ती भाजपा सरकार ने छत्तीसगढ़ की माटी की सोंधी खूशबू को दर किनार कर जो आयातित संस्कृति को बढ़ाने का काम किया था। पूर्ववर्ती सरकार के दौरान हरेली, तीजा, विश्व आदिवासी दिवस, छठ पूजा जैसे कार्यक्रमों का आयोजन नहीं किया जाता रहा है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार ने छत्तीसगढ़ के तीज त्योहारों का वृहद रूप से आयोजन ही नहीं किया बल्कि इन त्योहारों में अवकाश की घोषणा कर सबकी सहभागिता को भी सुनिश्चित किया है। गौरी-गौरा भी उत्सव के रूप में मनाने से छत्तीसगढ़ के आदिवासी संस्कृति उनके त्योहारों का एक प्रकार से सम्मान है जो छत्तीसगढ़ की पहचान है, उसको बरकरार रखने का काम मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार कर रही है।
प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि पूर्ववर्ती सरकार ने तो वर्षो से आयोजित हो रहे माघी पुन्नी मेला के आयोजन को बदलकर कुंभ मेला कर दिया जिसमें छत्तीसगढ़ के आम लोगों की सहभागिता कम रही है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार ने कुंभ मेला के स्थान पर माघी पुन्नी मेला का आयोजन किया तो छत्तीसगढ़ के लोकजीवन माधुर्य संस्कृति की झलक वापस लौटी और पुन्नी मेला का वृहद स्वरूप देखने को मिला। तीजा, पोला, हरेली के त्योहारों में अवकाश और सरकारी आयोजन होने से जो सामाजिक समरसता दिखा पूरा प्रदेश में हरेली को उत्सव की तरह मनाया गया और छत्तीसगढ़ ने देखा जिस पूर्व मंत्री ने पुन्नी मेला का नाम बदलकर कुंभ मेला किया था वह खुद हरेली त्यौहार के दिन गेड़ी चढ़ते नजर आए। पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह जो कभी छत्तीसगढ़ के तीज त्योहार का आयोजन नही करते थे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सरकार के तीजा अवकाश घोषणा होने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह तीजहारिन बहनों को तीजा की बधाई दे रहे थे। हकीकत यही है कि 15 साल तक भारतीय जनता पार्टी की सरकार के दौरान छत्तीसगढ़ की तीज त्योहारो परम्पराओं को महत्त्व नहीं मिला। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार ने त्योहारों परंपराओं को उचित स्थान देकर छत्तीसगढ़ को छत्तीसगढ़ होने का एहसास कराया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार के प्रति कांग्रेस आभार व्यक्त करती है कि वे निरंतर तीज त्यौहार कला संस्कृति परंपराओं को उचित स्थान देने में लगे हुए हैं, छत्तीसगढ़ के मान सम्मान को देश-विदेश तक पहुंचा रहे हैं।