Wednesday, October 23, 2019
Home > featured > ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने से अन्य सेक्टरों में भी आयी तेजी : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने से अन्य सेक्टरों में भी आयी तेजी : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

०० मुख्यमंत्री रायपुर प्रेस क्लब द्वारा आयोजित ‘प्रेस से मिलिए‘ कार्यक्रम में हुए शामिल

०० पत्रकारों के हित में लिए गए निर्णयों के लिए प्रेस क्लब ने आभार व्यक्त किया

रायपुर| मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा पिछले 10 माह के कार्यकाल के दौरान ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूती प्रदान करने के लिए किए गए कार्यो से न केवल लोगों की क्रय शक्ति बढ़ी है बल्कि जब पूरा देश मंदी के दौर से गुजर रहा है वहां छत्तीसगढ़ में अन्य सेक्टरों में तेजी आयी है। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल आज यहां मोतीबाग स्थित मधुकर स्मृति खेर भवन में रायपुर प्रेस क्लब द्वारा आयोजित ‘प्रेस से मिलिए‘ कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री बघेल द्वारा प्रदेश के पत्रकारों के हित में लिए गए निर्णय और लागू किए गए नवीन प्रावधानों के लिए प्रेस क्लब द्वारा आभार प्रदर्शन करते हुए उन्हें स्मृति चिन्ह भेंट किया गया।

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा कि मुझे खुशी है कि पिछले 10 माह में राज्य सरकार ने छत्तीसगढ़ महतारी की झोली में कुछ महत्वपूर्ण उपलब्धियों को डालने में सफल रही है जिसकी जरूरत लंबे समय से महसूस की जा रही थी। किसानों की कर्ज माफी, 2500 रूपए क्विंटल में धान खरीदी, तेन्दूपत्ता की पारिश्रमिक दर 2500 से बढ़ाकर 4000 रूपए प्रति मानक बोरा करने सहित अनेक ऐसे निर्णय लिए गए है, जिससे लोगों की क्रय शक्ति बढ़ी है साथ ही समाज के सभी वर्गो को आर्थिक विकास में भागीदार बनाने का मार्ग प्रशस्त हुआ है। चहुंमुखी विकास के छत्तीसगढ़ के इस मॉडल ने न सिर्फ प्रदेश के विभिन्न वर्गो को राहत और न्याय दिया है बल्कि राष्ट्रव्यापी आर्थिक मंदी के बढ़ते कदमों को मात देने का काम भी किया है। बघेल ने कहा कि देश के प्रतिष्ठित संस्थाओं द्वारा जारी आकड़े बताते राज्य में शिक्षित बेरोजगारी दर में कमी और श्रमिक भागीदार में बढ़ोत्तरी हुई है। इसी तरह राज्य सरकार द्वारा छोटे भूखण्डों की खरीदी-बिक्री से रोक हटाने से न केवल खरीदने और बेचने वालों को राहत मिली है बल्कि छोटे और मध्यम परिवारों के लिए घर का सपना साकार हुआ है साथ ही मकानों के बनने से कई लोगों के लिए रोजगार के अवसर सृजित हुए है। ऑटोमोबाइल सेक्टर में जहां राष्ट्रीय स्तर पर गिरावट दर्ज की जा रही है वहीं छत्तीसगढ़ में इसमें वृद्धि हुई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा ग्रामीण अर्थव्यवस्था को सुदृढ़ और पर्यावरण को नया जीवन देने के लिए सुराजी गांव योजना के तहत नरवा, गरवा, घुरवा और बारी के संवर्धन के कार्य किए जा रहे है। आज प्रदेश में कुपोषण एक बड़ी समस्या है इसके निजात के लिए प्रदेश के दूरस्थ और वनांचल क्षेत्रों में सुपोषण अभियान चलाया जा रहा है इस अभियान को महात्मा गांधी की जयंती आगामी 2 अक्टूबर से पूरे प्रदेश में प्रारंभ किया जाएगा। इसी तरह प्रदेश के दूरस्थ और वनांचल क्षेत्रों में लोगों तक सुगम स्वास्थ्य सेवाओं की प्रदायगी के लिए मुख्यमंत्री हॉट बाजार क्लिनिक योजना प्रारंभ की गई जिसका परिणाम यह हुआ कि इन क्षेत्रों के स्वास्थ्य केन्द्रों से दुगना ओपीडी हॉट बाजार क्लिनिक में आ रही है। लोग बाजार करने के साथ अपनी स्वास्थ्य जांच कराकर दवाएं आसानी से प्राप्त कर रहे है। श्री बघेल ने कहा कि इस योजना को आगामी 2 अक्टूबर से पूरे प्रदेश में लागू करने के साथ ही शहरी इलाकों के स्लम क्षेत्रों में भी प्रारंभ किया जाएगा ताकि झुग्गी बस्तियों में रहने वालों का स्वास्थ्य बेहतर हो सके। सार्वभौम पीडीएस के जरिए बीपीएल परिवारों के अलावा अब एपीएल परिवारों के भी राशन कार्ड बनाने का काम किया जा रहा है। एपीएल परिवारों को 10 रूपए प्रति किलों की दर से चावल प्रदान किया जाएगा।  बीपीएल परिवारों के जब तक नए कार्ड नही बन जाते तब तक उन्हें पुराने कार्ड पर ही राशन मिलता रहेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि पत्रकारों के लिए राज्य सरकार ने सम्मान निधि को 5 हजार रूपए से बढ़ाकर 10 हजार रूपए कर दिया है। अधिमान्यता को राज्य और जिला से बढ़ाकर अब ब्लाक तक कर दिया गया है। इसके अलावा पत्रकारांे के लिए चिकित्सा सुविधा के तहत अधिकत्तम सीमा 50 हजार से बढ़ाकर 2 लाख रूपए कर दिया गया है। पत्रकारों की सुरक्षा के लिए कानून बनाने के लिए न्यायाधीश की अध्यक्षता में गठित कमेटी द्वारा इस दिशा में कार्य किया जा रहा है। प्रेस क्लब के अध्यक्ष श्री दामू अम्बेडारे ने स्वागत भाषण दिया और पत्रकारों के हित में लिए गए निर्णयों, प्रेस क्लब के आधुनिकीकरण कार्य के लिए मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल को धन्यवाद ज्ञापित किया। इस अवसर पर विधायकद्वय श्री कुलदीप जुनेजा, श्री विकास उपाध्याय, महापौर श्री प्रमोद दुबे, वरिष्ठ पत्रकार श्री रमेश नैयर, प्रेस क्लब के पूर्व अध्यक्ष श्री अनिल पुसदकर, प्रेस क्लब के अध्यक्ष श्री दामू अम्बेडारे, कोषाध्यक्ष सुश्री शुगुप्ता शिरीन सहित प्रेस क्लब के पदाधिकारी और बड़ी संख्या में सदस्यगण मौजूद थे।