Tuesday, April 7, 2020
Home > देश विदेश > मस्तुरी में नसबंदी के बाद महिलाओ की बिगड़ी हालत, एक महिला गंभीर  

मस्तुरी में नसबंदी के बाद महिलाओ की बिगड़ी हालत, एक महिला गंभीर  

०० स्वास्थ्य केन्द्र मस्तूरी में 5 अगस्त को शिविर आयोजित कर किया गया था नसबंदी

०० मस्तुरी स्वास्थ्य केंद्र की गंभीर लापरवाही के चलते महिलाओ की बिगड़ी हालत

बिलासपुर/मस्तुरी। मस्तुरी विकासखंड सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की बदइन्तजामी एवं घोर लापरवाही के चलते स्वास्थ्य शिविर में नसबंदी कराने वाली 5 महिलाओ की हालत ख़राब हो गयी है,इसमें से एक महिला की हालत गंभीर बनी हुई है, इस मामले में मस्तुरी विकासखंड स्वास्थ्य अधिकारी नंदराज कवर ने कहा कि आपरेशन में किसी प्रकार की लापरवाही नहीं की गई है, महिला के टांके में पस आ जाने के कारण उसे भर्ती कर इलाज किया जा रहा है।

बिलासपुर नसबंदी काण्ड के बाद फिर से स्वास्थ्य विभाग की गंभीर लापरवाही के चलते मस्तुरी क्षेत्र की 5 महिलाओ की नसबंदी के बाद से हालत ख़राब हो गयी है, सभी महिलाओ को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है| सूत्रों की माने तो नसबंदी कराने वाली महिलाओ मे से एक महिला की हालत गंभीर बनी हुई है जबकि मस्तुरी विकासखंड स्वास्थ्य अधिकारी नंदराज कवर के अनुसार महिला की हालत गंभीर नहीं होने की बात कही जा रही है| गौरतलब है कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मस्तूरी में नसबंदी के लिए 5 अगस्त को शिविर का आयोजन किया गया था इस दौरान मस्तूरी विकासखंड के अंतर्गत ग्राम लावरकोनी की 5 महिलाएं नसबंदी आपरेशन के लिए केन्द्र पहुंची थी। इन महिलाओं का नसबंदी आपरेशन महिला सर्जन द्वारा किया गया। इस शिविर में तीन बच्चे होने के बाद लावरकोनी की यशोदा बाई पति लक्ष्मी प्रसाद 27 वर्ष ने भी नसबंदी आपरेशन महिला सर्जन द्वारा कराई थी। आपरेशन के 10 दिन बाद से महिला के आपरेशन की जगह पर मावाद आने लगा, धीरे-धीरे उसकी हालत खराब होने लगी। महिला की गंभीर हालत देख परिजन उसे मस्तूरी सामुदायिक स्वस्थ्य केन्द्र में इलाज के लिए भर्ती किया है। बताया जा रहा है कि भर्ती के दौरान भी महिला की हालत गंभीर बनी हुई है। मस्तूरी बीएमओ डा. नंदराज कंवर ने बताया कि आपरेशन में किसी प्रकार की लापरवाही नहीं की गई है। महिला के टांके में पस आ जाने के कारण उसे भर्ती कर इलाज किया जा रहा है। महिला के गंभीर हाेने की बात गलत है,आपरेशन के बाद बाकी 4 महिलाएं स्वस्थ हैं।