Uncategorizedदेश-विदेशपहलरायपुर

पढ़ई तुंहर दुआर 2.0 दंतेवाड़ा जिला स्तरीय प्रतियोगिताएं हुआ आयोजित

रायपुर/दंतेवाड़ा| छत्तीसगढ़ राज्य शासन की महती योजनाओं में से स्कूल शिक्षा विभाग के अन्तर्गत स्कूली बच्चों के लिये पढ़ई तुंहर दुआर 2.0 का जिला स्तरीय कार्यक्रम 10 जनवरी को एजुकेशन सिटी जावंगा में आयोजित किया गया। कोरोना महामारी संक्रमण के प्रभाव से सत्रह महीने बाद स्कूल खुले है, जिसके कारण अधिकांश बच्चों का लर्निंग ऑउटकम में क्षति हुई है। इस कारण शिक्षा विभाग द्वारा बच्चों को सीखने के उद्देश्य से उनमें पठन, लेखन, विज्ञान और गणितीय कौशल विकसित करने के साथ हस्तपुस्तिका निर्माण कार्य पर जोर दिया जा रहा है।

विकासखंड स्तर में चयनित माध्यमिक और उच्चतर माध्यमिक विद्यार्थीयों ने जिला स्तर में हिस्सा लिए और विजेताओं को सम्मानित किया गया। इस कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु जिला शिक्षा अधिकारी राजेश कर्मा, जिला मिशन समन्वयक एस एल शोरी, सहायक परियोजना समन्वयक बुधराम कोवासी, ढलेश आर्य, राजेंद्र पांडे, खंड शिक्षा अधिकारी शेख रफीक, खंड स्रोत समन्वयक अनिल शर्मा, प्रमोद कर्मा ने बच्चों द्वारा बनाई गई विज्ञान व गणित मॉडल तथा कबाड़ से जुगड़ प्रदर्शनी को जायजा लेते हुए भविष्य में ओर आगे जाने की प्रेरणा व शुभकामनाएं दी। जिला शिक्षा अधिकारी राजेश कर्मा, जिला मिशन समन्वयक श्यामलाल शोरी ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि कोरोना संक्रमण काल में भी शिक्षा गुणवत्ता को बढ़ावा देने हेतु शिक्षा विभाग द्वारा पढ़ई तुंहर दुआर और अन्य नवाचार गतिविधियां कार्यक्रम के माध्यम से बच्चों के शिक्षा कौशल और ज्ञान विकास में प्रोत्साहित किया जा रहा है। इस कार्यक्रम का उद्देश्य बच्चों को प्रोत्साहित करना और उन्हें शिक्षा से जोड़े रखना है। जिला स्तरीय एक दिवसीय कार्यक्रम पढ़ई तुंहर दुआर 2.0 और कबाड से जुगाड़ कार्यक्रम में दंतेवाड़ा जिले के जिला शिक्षा अधिकारी राजेश कर्मा, जिला मिशन समन्वयक एस एल शोरी के साथ सहायक परियोजना समन्वयक ढलेश आर्य, गीदम विकास खंड शिक्षा अधिकारी शेख़ रफीक, सहायक विकास खंड शिक्षा अधिकारी, गीदम खंड स्रोत समन्व्यय अनिल शर्मा, सर्व संकुल समन्वयक, शिक्षक और शिक्षिका तथा विद्यार्थी उपस्थित थे।

Related Articles

Back to top button