झूठी राजनीति के बाद अब वैष्णव देवी दर्शनार्थी किसान की यात्रा पर भाजपा उठा रही सवाल : कांग्रेस

00 देश में बघेल सरकार के काम और रमन सरकार के 15 साल की नाकामी की चर्चा होती है : धनंजय
रायपुर। वैष्णोदेवी की यात्रा में गए छत्तीसगढ़ के किसान और कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ हुई भेंट वार्ता पर टीका टिप्पणी कर रहे भाजपा नेताओं को प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने करारा जवाब दिया। धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि छत्तीसगढ़ का किसान छत्तीसगढ़ सरकार के योजनाओं से लाभ पाकर सहपरिवार माता वैष्णव देवी के बुलावे पर 27अगस्त को टिकट आरक्षित कराकर दर्शन करने जाता है। जब तक कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी का वैष्णव देवी दर्शन का कार्यक्रम तय ही नही था। अचानक माता के बुलावे पर राहुल गांधी भी वैष्णव देवी दर्शन को जाते है और वहाँ छत्तीसगढ़ के किसान और राहुल गांधी की भेंट होती है। उस पर भाजपा सवाल उठा रही है। भाजपा पहले ही गंगाजल की आड़ में झूठ की राजनीति कर रही थी, अब माता वैष्णव देवी के दर्शनार्थी किसान के यात्रा पर सवाल उठा रही है। इससे ज्यादा भाजपा नेताओं की गिरी हुई मानसिकता का प्रदर्शन कुछ हो नही सकता।

भूपेश सरकार के किसान हितैषी मजदूरी हितैषी गोपालक और पशुधन हितैषी योजना से व्यक्ति विकास हो रहा है। छत्तीसगढ़ तेजी से विकास की ओर बढ़ रहा है जिसकी तारीफ देश विदेश में हो रही है। पूर्व के रमन-भाजपा सरकार ने 15 साल में कमीशन खोरी भ्रष्टाचार नान घोटाला डीकेएस घोटाला की उस दौरान पनामा पेपर्स कांड हुए, किसानों की आत्महत्या की घटनाये हुई,इनके लपरवाही के चलते चार विकासखंड में सीमित नक्सलवाद 14 जिलों तक पहुंच गया, शराब बेचने आबकारी नीति बदले शराब का सरकारीकरण किया,आदिवासी जनजाति और पिछडा वर्ग को मिलने वाले आरक्षण में कटौती की, कांग्रेस के परिवर्तन यात्रा को पूरी सुरक्षा नही दी जिसके चलते झीरमघाटी नक्सली हमला हुआ जिसमे कांग्रेस के प्रथम पंक्ति के नेताओ एवँ सुरक्षा कर्मियों की शहादत हुई।सारखेगुड़ा, पेद्दागलूर,मीना खालको कांड झलियामारी बालिका गृह में दुष्कर्म की घटना अनेक काले कारनामे हुये वादाखिलाफी हुई जिसकी चर्चा आज भी होती है।तो जैसा बोयेगा वैसा पायेगा। धनंजय ठाकुर ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सरकार के राजीव गांधी किसान न्याय योजना, गोधन न्याय योजना, किसानों की कर्ज माफी,धान की कीमत 2500 रु प्रति क्विंटल, बिजली बिल हाफ सिंचाई कर्ज माफ,तेंदू पत्ता का मानकदर 2500 रु से बढ़ाकर 4 हजार रु प्रति बोरा करने, 52 वनोपज की समर्थन मूल्य में खरीदी की तारीफ़ एवं चर्चा तो केंद्र सरकार कर रही है 30 से अधिक पुरस्कार राज्य सरकार को दी है संसदीय समिति ने गोधन न्याय योजना की तारीफ की है इसे देशभर में लागू करने की वकालत की है स्वभाविक बात है ऐसे में भाजपा नेताओं के पेट में दर्द होगा तकलीफ होगी।

error: Content is protected !!