एयरलाइंस में नौकरी दिलाने के सपने दिखाकर ढाई लाख की ठगी, दो आरोपी गिरफ्तार

०० रिटायर टीचर को बदमाशों ने फोन करके की ठगी

रायपुर| राजधानी पुलिस को ऑनलाइन ठगी करने वाले दो बदमाशों को गिरफ्तार करने में कामयाबी मिली है। पुलिस की टीम उन्हें दिल्ली से पकड़कर रायपुर लाई है। हाल ही में रायपुर शहर के कबीर नगर इलाके में रहने वाली एक रिटायर टीचर को इन बदमाशों ने फोन करके ठग लिया था। महिला से आरोपियों ने एयरलाइंस में नौकरी लगवाने का झांसा देकर लगभग ढाई लाख रुपए ऐंठे थे। पुलिस की गिरफ्त में आए ठगों के नाम प्रशांत कुमार और अंकुश कुमार हैं।
एक महीने पहले ठगी का शिकार हुई शम्पा गुप्ता ने उन बैंक खातों की डिटेल्स पुलिस को दी थी जिसमें ठगों की बातों में आकर पैसे डाले गए। पुलिस ने बारीकी से जांचा परखा और टीम को अहम सुराग मिला कि ठग दिल्ली से अपने रैकेट को ऑपरेट कर रहे हैं। कुछ बैंक ट्रांजैक्शन दिल्ली के ATM से देखे गए। इसके बाद रायपुर पुलिस की टीम दिल्ली पहुंच गई थी। लगभग 15 से 20 दिनों की मेहनत और स्थानीय स्तर पर कई लोगों से पूछताछ के बाद आखिरकार पुलिस प्रशांत कुमार तक पहुंच गई। यह यमुना पार इलाके में रह रहा था इसका एक साथी अंकुश कुमार, त्रिलोकपुरी में था। दोनों ने पुलिस के सामने यह बात कबूली कि इन्होंने ही रायपुर की महिला को फोन करके ठगी की घटना को अंजाम दिया था। पुलिस ने इनके पास से ठगी में इस्तेमाल हुए आईफोन सहित कुल आठ फोन बरामद किए हैं। इनके पास से 7 हजार 500 रुपए नगद भी मिले हैं। कई बैंकों के पासबुक और कई अहम दस्तावेज बरामद किए गए हैं। जिनके जरिए ठगी किया करते थे। आरोपियों के बैंक खाते में 25 हजार थे जिसे फिलहाल पुलिस ने सीज करवा दिया है। जांच टीम को शक है कि यह देश के अलग-अलग इलाकों में इस तरह की घटनाओं को अंजाम दे रहे थे, फिलहाल दूसरी घटनाओं के संबंध में भी इनसे पूछताछ की जा रही है| ज्ञात हो कि कबीर नगर में रहने वालीं शम्पा धरगुप्ता पिछले 25 सालों से टीचिंग की जॉब में थीं। पिछले दिनों नौकरी छूट गई तो नौकरी डॉट कॉम नाम की वेबसाइट पर अप्लाय किया था। 8 जुलाई को इन्हें मोबाइल नंबर 9933011568 से फोन आया। कॉल करने वाले ने कहा कि मैं इंडियन एयरलाइंस से बोल रहा हूं। उसने कहा कि आपका सलेक्शन इंडियन एयरलाइंस में हो चुका है, हमें आप जैसे पढ़े-लिखे और अनुभवी लोगों की जरूरत है। अब आपका टेलीफोनिक इंटरव्यू होगा। इसके बाद एक और नंबर 8923830312 से महिला के पास फोन आया। उसने महिला से बात की। कहा कि आपको हम जॉब दे रहे हैं। ये सुनकर महिला खुश हो गई। मगर यहीं असली पेंच था। ठग ने महिला से कहा कि उन्हें रजिस्ट्रेशन के 2 हजार, डॉक्यूमेंटेशन के 7 हजार, मेडिकल के 15 हजार, ट्रेनिंग के 28 हजार 600, ड्रेस कोड के 24 हजार, इंश्योरेंस के 39 हजार 999, बॉन्ड के 59 हजार 999, मुंबई में ट्रेनिंग के 79 हजार 999 रुपए मिलाकर कुल 2 लाख 56 हजार 597 रुपए जमा कराने होंगे। ठग ने भरोसा दिया कि सैलेरी मिलने पर इनमें से रुपए लौटा दिए जाएंगे। ठग ने यूको बैंक के खाते की डीटेल महिला को भेजी और फोन पे के जरिए रुपए ले लिए। लगातार 10 दिनों तक महिला से ठग इधर-उधर की बातें करते रहे न रकम लौटाई न जॉब का कोई कंफर्मेशन मिला। ठगी का शक होने पर इसके बाद महिला थाने चली गई और शिकायत दर्ज करवाई।

error: Content is protected !!