रुक-रुक कर हुई सबसे तेज़ बारिश से राजधानी लबालब, सडके बनी तालाब, कालोनी-मुहल्ले में भरा पानी

०० एक घंटे में 30 मिमी बारिश, नदी-नाले उफनाए, सड़कें बनी तालाब

रायपुर| मानसून की अब तक की सबसे तेज बरसात ने रायपुर शहर की जलनिकासी व्यवस्था की नाकामियों की तस्वीर दिखा दी है। दोपहर बाद हुई एक घंटे की तेज बारिश से रायपुर शहर की मुख्य सड़कें लबालब हो गईं। उफनाए नालों का पानी बस्तियों, कॉलोनियों और घरों में भर गया। कई निचले इलाकों में हालात चिंताजनक हो गए।

रायपुर में दोपहर दो बजे के बाद बरसात तेज हुई। करीब 3 बजे तक शहर का जयस्तंभ चौक जलमग्न हो चुका था। जीई रोड पर पूरी तरह पानी भरा था। नगर घड़ी चौक पर घुटनों तक पानी बह रहा था। राजा तालाब, प्रोफेसर कॉलोनी, अवंति विहार, जल विहार कॉलोनी, रेलवे स्टेशन रोड, विशाल नगर, समता कॉलोनी, चौबे कॉलोनी, जगन्नाथ नगर, बांसटाल, मोदहापारा जैसे क्षेत्रों में लोगों के घरों में पानी घुस गया। गलियों में घुटनों से ऊपर पानी था। मोदहापारा की सड़क को तो दुर्घटना की आशंका में बंद कर दिया गया। आवाजाही एकदम से बंद हो गई। इसकी वजह से लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा है। मौसम विभाग के मुताबिक शाम 5 बजे तक रायपुर में 30 मिलीमीटर से अधिक पानी बरस चुका था।सबसे व्यस्त इलेक्ट्रॉनिक्स बाजारों में से एक लालगंगा शॉपिंग कॉम्पलेक्स में पानी घुस गया। उसके भूतल वाले हिस्से में दुकानों में पानी जाने से इलेक्ट्रॉनिक सामानों के नुकसान की आशंका है। आजाद चौक थाने में भी पानी भरा है। इसकी वजह से पुलिसकर्मियों को दिक्कत उठानी पड़ रही है।शहर के कई हिस्सो में बने अंडरब्रिज पूरी तरह पानी से भर गए हैं। उनसे होकर आवाजाही बंद है। वहीं सड़क किनारे के नाले खतरनाक हो चुके हैं। जलभराव की वजह से नाला और सड़क का अंतर समझ में नहीं आ रहा है। ऐसे में बड़ी दुर्घटना की आशंका बनी हुई है।

error: Content is protected !!