न्याय की ढींगे हांकने वाले मुख्यमंत्री कहीं अपने केंद्रीय नेतृत्व के दबाव में खामोश तो नहीं बैठ गए : विष्णुदेव साय

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने प्रदेशभर से लगातार आती धर्मांतरण की घटना विवाद और एकतरफा कार्यवाही को लेकर प्रदेश सरकार की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाया हैं। उन्होंने पहले सुकमा जिले में पुलिस कप्तान के पत्र का जिक्र करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार की लापरवाही का ही नतीजा हैं जो हाल्या राजधानी रायपुर में धर्मांतरण को लेकर शिकायत और पुलिस प्रशासन की भेदभावपूर्ण कार्यवाही के बीच क्रिश्चन लोगों द्वारा खुलेआम मीडिया में धर्मांतरण हम करेंगे जैसे बयान से प्रदेश में धार्मिक भावना उद्गवेलित करने का प्रयास किया जा रहा हैं।
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कहा कि जिस तेजी से और षड्यंत्रपूर्ण तरीके से प्रदेशभर से बहला फुसला कर, प्रलोभन दे कर और दबावपूर्वक धर्मांतरण की खबरें आ रही हैं और प्रदेश सरकार ने सिर्फ़ मौन साधे बैठी हैं बल्कि राजधानी रायपुर में धर्मांतरण की शिकायत करने वालों पर जिस प्रकार एकतरफा कार्यवाही की जा रही हैं उससे यह समझा जा सकता हैं कि धर्मांतरण के खेल में सत्ताधारी दल अहम रोल हैं।भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कहा कि सुकमा में पुलिस कप्तान के पत्र को लेकर भाजपा ने पहले ही चेताया था बस्तर के सुदूर क्षेत्रों में भोले भाले आदिवासियों को बहला फुसला कर धर्म परिवर्तन का षड्यंत्र चल रहा हैं तब मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कानून का हवाला दे कर षड़तंत्र पर पर्दा डालने का प्रयास किया। कोंडागांव के एक स्कूल में भगवान कृष्ण का उपवास रखने पर बच्चों के साथ अमानवीय व्यवहार कर भगवान कृष्ण को लेकर अभद्र टिप्पणी की गयी हिन्दू आस्था का खुले आम अपमान किया गया जिसकी शिकायत के बाद प्रदेश सरकार और कानून का हवाला देने वाले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल मौन बैठे रहे। राजधानी में धर्मांतरण को लेकर शिकायत करने वालों के खिलाफ एकतरफा कार्यवाही हो रही हैं ऐसे में धर्मांतरण पर कानून का हवाला देने वाले न्याय की ढींगे हांकने वाले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल कहीं अपने केंद्रीय नेतृत्व के दबाव में खामोश तो नहीं बैठ गए हैं ? भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को चेतावनी देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री होने के नाते प्रदेशभर में धर्मांतरण को लेकर निर्मित हुई स्तिथि के लिए वे सीधे तौर पर जिम्मेदार हैं यदि संविधान के विरुद्ध जाकर धर्मांतरण होता हैं तो भाजपा ऐसे कृत्यों को बर्दाश्त नहीं करेगी।

error: Content is protected !!