मुख्यमंत्री ने स्कूल के बच्चों के आत्मविश्वास, शिक्षकों के नवाचारी प्रयासों और स्कूल की सुविधाओं को सराहा

रायपुर| मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आर.डी. तिवारी स्वामी आत्मानंद शासकीय उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम स्कूल के बच्चों के आत्म विश्वास, स्कूल में विकसित की गयी अध्ययन-अध्यापन की सुविधाओं और कोरोना काल में बच्चों को शिक्षा दान के लिए स्कूल के शिक्षकों द्वारा किए गए नवाचारी प्रयासों की मुक्तकंठ से सराहना की है।
मुख्यमंत्री श्री बघेल ने आज शिक्षक दिवस के अवसर पर राजधानी रायपुर के आर.डी. तिवारी स्वामी आत्मानंद शासकीय उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम स्कूल आमापारा का नए स्वरूप में लोकार्पण करने के बाद वहां आयोजित ’शिक्षा मड़ई’ प्रदर्शनी में नवाचारी शिक्षकों के प्रदर्शित कार्यों का अवलोकन किया। उन्होंने विद्यार्थियों और शिक्षकों से पढ़ाई-लिखाई और स्कूल में विकसित की गयी उत्कृष्ट सुविधाओं के बारे में जानकारी ली और स्कूल के अवलोकन के बाद स्कूल की ऑटोग्राफ बुक में लिखा कि पहले भी आर.डी. तिवारी स्कूल में आना हुआ है। किन्तु अब यह स्कूल बिल्कुल परिवर्तित हो चुका है। यहां कोरोना काल में भी बच्चों की पढ़ाई बाधित न हो इसके लिए शिक्षकों ने अनेक प्रयास किए जो राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर सराहे गए। आज शिक्षक दिवस के अवसर पर स्कूल के शिक्षकों को बधाई। स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम के स्कूल के बच्चों से मिला। उनका आत्म विश्वास देखते ही बनता है। इस अवसर पर स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम, नगरीय प्रशासन एवं विकास मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया, संसदीय सचिव श्री विकास उपाध्याय, महापौर रायपुर श्री एजाज ढेबर, छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मण्डल के अध्यक्ष श्री कुलदीप जुनेजा, छत्तीसगढ़ योग आयोग के अध्यक्ष श्री ज्ञानेश शर्मा, शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव डॉ. आलोक शुक्ला सहित अनेक जनप्रतिनिधि, स्कूल शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव डॉ. आलोक शुक्ला भी उपस्थित थे।

error: Content is protected !!