बस्तर में भाजपा के चिंतन शिविर से हिली हुई है पूरी सरकार, एक शब्द निकला है तो इतना हंगामा, चुनाव के समय अफगान सेना की तरह सरेंडर कर भागेंगे : अजय चंद्राकर

०० पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर ने कहा, 9 मंत्रियों के साथ इतनी हल्की प्रेसवार्ता आज तक किसी मुख्यमंत्री ने नहीं की थी

रायपुर| छत्तीसगढ़ भाजपा प्रदेश प्रभारी डी. पुरंदेश्वरी के ‘थूक दें तो पूरा मंत्रिमंडल बह जाएगा’ वाले बयान पर सियासत जारी है। अब पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर ने इसे और हवा दे दी है। भाजपा विधायक ने कहा कि बस्तर में भाजपा के चिंतन शिविर से पूरी सरकार हिली हुई है। यह हमारी सफलता है। अभी एक शब्द निकला है तो इतना हंगामा है। चुनाव के समय और हथियार निकलेंगे तो क्या होगा। चंद्राकर ने कहा, अमेरिका के हटने पर जैसे अफगानिस्तान की सेना ने समर्पण कर दिया वैसे ही यह सरकार भी सरेंडर करके भागेगी।

रायपुर स्थित भाजपा कार्यालय में शनिवार को पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर ने कहा, 9 मंत्रियों के साथ इतनी हल्की प्रेसवार्ता आज तक किसी मुख्यमंत्री ने नहीं की थी। एक विषय में मुख्यमंत्री सहित 10 मंत्री मैदान में आ गए तो इसका मतलब है कि सरकार हिल गई है। उन्होंने कहा, जब मणिशंकर अय्यर ने प्रधानमंत्री के गलत शब्द का प्रयोग किया तब यह लोग कहां थे। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के राजनीतिक गुरु दिग्विजय सिंह ने एक महिला मंत्री के लिए शब्द इस्तेमाल किए थे, तब इन लोगों ने क्या किया। इनके नेता अभिषेक मनु सिंघवी को पार्टी से क्यों निकाला गया था। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कहा, किसानों की सरकार का दावा करने वाले मुख्यमंत्री के रहते 500 किसान आत्महत्या कर चुके हैं। प्रदेश भर में अपराध बढ़ रहा है। महिलाओं पर अत्याचार हो रहा है। इनके एक मंत्री ने हमारी प्रभारी को एक दस्यु सुंदरी के नाम से संबोधित किया। एक विधायक ने आदिवासियों को अंगूठा छाप तक कह दिया। तब इन लोगों की शाब्दिक शुचिता को क्या हो गया था। नारी सम्मान के दावे का क्या हुआ था। साय ने कहा, ये लोग भाजपा को संस्कृति सिखाने का प्रयास न करें। पहले अपने गिरेबान में झांके। साय ने कहा, इस सरकार की उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है। अजय चंद्राकर ने कहा, हम अपने कार्यकर्ताओं के बीच बात कर रहे थे। किसी का नाम लेकर उसे अपमानित नहीं किया। इसमें माफी मांगने अथवा स्पष्टीकरण देने का सवाल ही नहीं पैदा होता। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज दोपहर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर भाजपा से माफी की मांग कही थी। प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय और विधायक अजय चंद्राकर ने पुरंदेश्वरी के बयान पर सफाई देने की कोशिश की। अजय चंद्राकर ने कहा, पार्टी प्रभारी डी. पुरंदेश्वरी दक्षिण भारत से आती हैं। उनकी हिंदी प्रोनाउंसेसन में समस्या है। उन्होंने उस दिन थूक नहीं कहा था, उन्होंने कहा था कि भाजपा कार्यकर्ता अगर फूंक दें तो कांग्रेस मंत्रिमंडल उड़ जाएगा।

error: Content is protected !!