उत्तर प्रदेश  में नंदकुमार बघेल ने कहा था,  ब्राह्मण विदेशी इन्हें बाहर करेंगे, बघेल के खिलाफ रायगढ़ में प्रदर्शन पुतला फूंका

रायपुर| सामाजिक कार्यकर्ता नंद कुमार बघेल के बयान से ब्राह्मण समाज का गुस्सा फूट पड़ा है। रायगढ़ में समाज के लोगों ने शनिवार को बघेल का पुतला दहन किया। वहीं ऍफ़आईआर दर्ज करने की मांग को लेकर सिटी कोतवाली का घेराव कर दिया। घंटों चले हंगामे के बाद पुलिस ने समाज के लोगों से शिकायत ले ली है और कार्रवाई का आश्वासन दिया है। बघेल ने पिछले दिनों यूपी  दौरे के दौरान दिए बयान में ब्राह्मणों को विदेशी बताया था।

सर्व ब्राह्मण समाज के बैनर तले तमाम लोग शनिवार को परशुराम मंदिर के बाहर एकत्र हो गए। वहां से नंद कुमार बघेल के पुतले को घसीटते हुए सुभाष चौक तक लाए और लात-घूंसों से पीटने के बाद उसमें आग लगा दी। इसके बाद नारेबाजी करते हुए सिटी कोतवाली तक रैली निकाली और बाहर प्रदर्शन शुरू कर दिया। सभी बघेल के खिलाफ ऍफ़आईआर  दर्ज करने की मांग कर रहे थे। प्रदर्शन को देखते हुए पुलिस ने कोतवाली का गेट बंद कर दिया। समाज के लोग कोतवाली का गेट बंद किए जाने से वहीं सड़क पर धरना देने बैठ गए। इस दौरान नारेबाजी होती रही। सूचना मिलने पर अफसर भी मौके पर पहुंच गए। इसके बाद दोनों पक्षों में घंटों तक वार्ता चलती रही। प्रदर्शनकारी अपनी जिद पर अड़े थे। इसके चलते ट्रैफिक भी बाधित हो गया। हंगामा बढ़ता देख पुलिस ने समाज के लोगों से शिकायत ले ली है। समाज की ओर से राधेश्याम शर्मा ने शिकायत दी है। हालांकि ऍफ़आईआर  को लेकर स्पष्ट नहीं है। इसी महीने सामाजिक कार्यकर्ता नंद कुमार बघेल यूपी  के दौरे पर थे। इस दौरान लखनऊ में मीडिया से बातचीत के दौरान बघेल ने कहा था कि जिसका वोट, उसी की सरकार। ब्राह्मण विदेशी हैं। जिस तरह अंग्रेज यहां से गए, वो भी जाएंगे। ब्राह्मण सुधर जाएं, या तो जाने के लिए तैयार रहें। उन्होंने कहा कि ब्राह्मणों से इसलिए नाराजगी है, कि वह विदेशी हैं और हमे अछूत मानते हैं। हमारे सारे अधिकार छीन रहे हैं। गांवों में भी अभियान चलाकर उनका बायकॉट करेंगे।

error: Content is protected !!