भाजपा के चिंतन शिविर से बाहर रमन सरकार के पूर्व मंत्रियों को आत्मचिंतन करना चाहिये: कांग्रेस

रायपुर। भाजपा के बस्तर चिंतन शिविर से बाहर रमन सरकार के पूर्व मंत्रियों पर तंज कसते हुये प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि भाजपा बस्तर में चिंतन कर रही है। चिंतन शिविर से बाहर किये गये रमन सरकार के पूर्व मंत्री राजेश मूणत, अमर अग्रवाल, चन्द्रशेखर साहू, रामसेवक पैकरा एवं गौरी शंकर अग्रवाल सहित उनके सभी सहयोगियों को आत्मचिंतन करना चाहिए कि 15 साल तक सरकार रहते उन्होंने छत्तीसगढ़ का कितना बुरा किया कि उनकी ही पार्टी भाजपा ने अपने राजनीतिक कार्यक्रम से उन्हें दूर कर दिया। रमन सरकार के 15 साल के कार्यकाल की विफलताओं, नाकामी, कमीशनखोरी, भ्रष्टाचार, किसान, युवा, आदिवासी विरोधी जनविरोधी नीतियों के कारण हुई करारी हार पर भाजपा बस्तर में चिंतन कर रही है। उस चिंतन शिविर में रमन सरकार के दौरान मठाधीश की भूमिका में रहे इन बड़े नेताओं को बाहर कर दिया गया। कांग्रेस ने रमन सरकार की 15 साल की कालगुजारियों के खिलाफ जनता की लड़ाई लड़ी और छत्तीसगढ़ को भाजपा के कुशासन, भ्रष्टाचार से मुक्त कर एक खुशहाल छत्तीसगढ़ नवा छत्तीसगढ़ का निर्माण कर रही है।
प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि भाजपा में गुटबाजी चरम सीमा पर है भाजपा के चिंतन शिविर में भी गुटबाजी झलक रही है। बस्तर में आयोजित चिंतन शिविर में बस्तर के स्थानीय नेताओं और कार्यकर्ताओं को दूर रखा गया है। रमन ग्रुप और बृजमोहन ग्रुप की खुली लड़ाई दिख रही है। कमीशनखोरी और भ्रष्टाचार के लिए जाने, जाने वाले रमन सरकार और उनके पूर्व मंत्रियों को चिंतन शिविर से दूर कर भाजपा खुद को पाक साफ संयमित बताने की कोशिश कर रही है कि रमन सरकार के 15 साल के कार्यकाल छत्तीसगढ़ के लिए विघटनकारी रहा है। उसके लिये भाजपा भी दोषी है।

error: Content is protected !!