पाकिस्तान के वीडियो को रायपुर का बता भाजपा नेता ने व्हाट्सएप ग्रुप में डाली वीडियो की लिंक, तीन के खिलाफ ऍफ़आईआर

०० भाजपा नेता विजय जयसिंघानी ने कहा, “रायपुर के शादाणी दरबार में लगे पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे”

रायपुर| माना थाने में भाजपा के कुछ नेताओं के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। मामला फेक न्यूज़ को वायरल करने, धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने और सांप्रदायिक भावनाओं को भड़काने से जुड़ा हुआ है। जिन भाजपा नेताओं पर यह आरोप लगे हैं उनके नाम विजय जयसिंघानी, राजीव चक्रवर्ती और शिव जलम दुबे हैं। इनमें से विजय जयसिंघानी ने व्हाट्सएप ग्रुप में एक वीडियो लिंक शेयर किया था और शदाणी दरबार के संत पर आपत्तिजनक टिप्पणी करते हुए कहा था कि उन्हें ऐसे कार्यक्रम में शामिल नहीं होना चाहिए। जहां पाकिस्तान के समर्थन में नारे लगाए जा रहे हों। दरअसल, यह पाकिस्तान के कार्यक्रम का वीडियो था, जिसे रायपुर का बताकर ग्रुप में पोस्ट किया गया था।

रायपुर के व्हाट्सएप ग्रुप में भाजपा नेता विजय जयसिंघानी ने एक वीडियो की लिंक और उसके कुछ कंटेंट फॉरवर्ड किए। इसमें लिखा था कि जिन शरणार्थियों को नागरिकता दी जा रही है, वे 14 अगस्त 2021 को शदाणी दरबार में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगा रहे थे। वहां के राष्ट्रीय गीत को रायपुर में हजारों की संख्या में उपस्थित लोगों के बीच गा रहे हैं। विजय ने इस पर शदाणी दरबार के संत के लिए आपत्तिजनक टिप्पणी की और यह भी कहा कि जहां पाकिस्तान के समर्थन में नारे लगाए जा रहे हों, ऐसे कार्यक्रम में उन्हें नहीं जाना चाहिए। व्हाट्सएप ग्रुप के वायरल चैट के मुताबिक बाकी के दोनों नेता शुभ जलम दुबे और राजीव चक्रवर्ती ने भी समर्थन किया। ग्रुप के अन्य सदस्यों ने उन्हें ऐसा करने से रोकते हुए कानूनी कार्रवाई की चेतावनी दे डाली इस पर भी आरोपी नहीं रुके। मामला उजागर होने के बाद शदाणी दरबार के पास माना कैंप में गली नंबर 2 में रहने वाले अमित चावला ने इस मामले को लेकर पुलिस से शिकायत कर दी। कारोबारी अमित ने माना थाने पहुंचकर शिकायत दर्ज कराई और कहा कि इन नेताओं ने झूठी जानकारी फैलाई। वीडियो साल 2020 का है और पाकिस्तान में आयोजित एक कार्यक्रम का है। दरबार के धर्मगुरु युधिष्ठिर लाल देश और दुनिया में कई सामाजिक कार्यक्रमों में शामिल होते हैं। अमित चावला ने अपनी शिकायत में बताया है कि आरोपियों ने इस वीडियो को रायपुर और छत्तीसगढ़ का बताया जबकि ये पाकिस्तान का वीडियो है। धर्मगुरु पाकिस्तान में आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल हुए थे और वहीं पाकिस्तान का राष्ट्रीय गीत गाया गया था जैसे हिंदुस्तान में रह रहे लोग हिंदुस्तान का राष्ट्रीय गीत गाते हैं। यह सामान्य बात थी। अमित चावला ने पुलिस से मांग की है कि भ्रामक प्रचार कर के सामाजिक सौहार्द्र खराब करने वाले इन लोगों पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए।

error: Content is protected !!