रमन सिंह को चेहरा पढ़ने का हुनर आता तो भाजपा 15 सीट में नही सिमटती : कांग्रेस

०० मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के जनहितैषी योजना से छत्तीसगढ़ के जन-जन के चेहरे में आई चमक से भाजपा बेचैन

०० डॉ रमन सिंह के चेहरा को जनता पहले नकार दी अब भाजपा ने भी किया किनारा

रायपुर। भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के बयान पर कांग्रेस ने प्रतिक्रिया व्यक्त की। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि डॉ रमन सिंह को चेहरा पढ़ना आता तो भाजपा 15 सीट में नहीं सिमटती। आरएसएस और भाजपा 15 साल तक डॉ. रमन सिंह के दाग़दार चेहरा को चमकदार बनाने में लगे रहे, सरकारी खजाने का बंदरबाट कर झूठी वाहवाही लूटने विज्ञापनबाजी करते रहे है। लेकिन रमन सिंह के दाग़दार चेहरा के बनावटी चमक को छत्तीसगढ़ की जनता पहचान गई। 2018 के विधानसभा चुनाव में छत्तीसगढ़ की जनता ने रमन सिंह के चेहरे को नकार दिया और भाजपा को 15 सीट में समेट दिया। अब भाजपा भी रमन सिंह के चेहरे से किनारा कर ली है। यदि रमन सिंह अपने सरकार के जनविरोधी, किसान विरोधी, महिला विरोधी, युवा विरोधी नीति अफसरशाही से प्रताड़ित पीड़ित, किसानों, मजदूरों, बेरोजगार युवाओं, आदिवासी जनजाति पिछड़ा वर्ग, महिलाओं के मायूस चेहरा को पढ़ लेते तो भाजपा की ऐसी दुर्गति नही होती।
प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सरकार के पौने 3 साल के कार्यकाल में छत्तीसगढ़ नई ऊंचाइयों को छू रहा है किसानों का कर्जा माफी, बिजली बिल हाफ, सिंचाई कर माफ, धान की कीमत 2500 रु प्रति क्विंटल,52 वनोपज की समर्थन मूल्य में खरीदी, तेंदूपत्ता का मानकदर 4000 रू. प्रति बोरा मिल रहा है, रमन सरकार के दौरान निर्दोष आदिवासियों को जेल में बंद किया गया था ऐसे 718 प्रकरण में 918 आदिवासियों को जेल से मुक्ति मिली है। 14580 शिक्षकों की भर्ती, आंगनबाड़ी मितानिन कार्यकर्ताओं के मानदेय में बढोत्तरी, छत्तीसगढ़ के कला संस्कृति परंपरा तीज त्योहारों को पुनर्जीवित करने का काम किया जा रहा है। ऐसे में स्वाभविक बात है 15 साल तक छत्तीसगढ़ के हर वर्ग के विरोधी रहे रमन भाजपा को तकलीफ होना ही है।

error: Content is protected !!