बस्तर में भाजपा का चिंतन शिविर नहीं चिंता शिविर : कांग्रेस

रायपुर। बस्तर में भाजपा के चिंतन शिविर पर प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि भाजपा का चिंतन नहीं चिंता शिविर शुरू हो रहा है। भाजपा को चिंता इस बात की है कि 15 साल सरकार में रहने के बाद जो दुर्दशा हुयी 15 सीटें भी नहीं मिल पायी उसकी चिंता है। भाजपा को चिंता इस बात की है कि जिस चेहरे पर चुनाव लड़ सके, ऐसा कोई चेहरा अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और पिछड़ा वर्ग का कोई चेहरा, कोई छत्तीसगढ़िया चेहरा भाजपा के पास है ही नहीं।

15 साल ऐसे किसी नेतृत्व को भाजपा ने उभरने ही नहीं दिया। पिछला विधानसभा चुनाव भाजपा ने डॉ. रमन सिंह के चेहरे पर लड़ा था, उनके ऊपर जीरम, नान, विदेशों में खाते, नसबंदी कांड, अंखफोड़वा कांड, गर्भाशय कांड, पेद्दागेलूर, सारकेगुड़ा जैसे गंभीर आरोप है। डॉ. रमन सिंह के चेहरे पर चुनाव लड़ने के कारण तो यह दुर्दशा हुयी है भाजपा की। भाजपा को चिंता इस बात की है कि भाजपा का यह आपसी खीचतान चरम पर है। भाजपा रमन सिंह के समर्थक, रमन सिंह के विरोधी और न जाने किन-किन गुटों में बट चुकी है। दरअसल भाजपा की इसी चिंता को दूर करने के लिये सत्ता प्राप्त करने की चिंता में भाजपा नेताओं की यह शिविर हो रहा है। इसे चिंतन शिविर कहना उचित नहीं है, यह भाजपा का चिंता शिविर है।

error: Content is protected !!