मुख्यमंत्री बघेल ने दिखाई सादगी, अपने नाम का नारा लगाने से कार्यकर्ताओं को रोका, कहा “सिर्फ सोनिया गांधी, राहुल गांधी और कांग्रेस पार्टी के नारे लगाए”

०० कांग्रेस कार्यालय राजीव भवन में मछुआ समाज की समस्याओं और कल्याण को लेकर हुई बैठक में शामिल होने पहुचे थे मुख्यमंत्री बघेल

रायपुर। अपने दिल्ली प्रवास से लौटने के बाद मुख्यमंत्री बघेल कांग्रेस कार्यालय राजीव भवन में एक अहम बैठक में शामिल होने पहुंचे। यह बैठक मछुआ समाज की समस्याओं और कल्याण को लेकर थी। इस बैठक में सीएम भूपेश बघेल जैसे ही पहुंचे कार्यकर्ता उनके नाम के नारे लगाने लगे। तभी मुख्यमंत्री बघेल ने वहां मौजूद कांग्रेस कार्यकर्ताओं को नारे लगाने से रोका। उन्होंने कार्यकर्ताओं को कहा कि वह सिर्फ सोनिया गांधी, राहुल गांधी और कांग्रेस पार्टी के नारे लगाए। उनके नाम के नारे न लगाए।

इससे पहले शनिवार को करीब शाम 4 बजे सीएम भूपेश बघेल दिल्ली दौरे से रायपुर पहुंचे थे। इस दौरान उनके स्वागत में कार्यकर्ताओं और समर्थकों का हूजुम रायपुर एयरपोर्ट पर उमड़ पड़ा था। कृषि मंत्री रविंद्र चौबे सबसे पहले विक्ट्री साइन दिखाते हुए एयरपोर्ट से बाहर निकले। फिर सीएम भूपेश बघेल अन्य मंत्रियों और विधायकों के साथ एयरपोर्ट से बाहर आए। इस दौरान सीएम भूपेश ने कहा कि दिल्ली में राहुल गांधी से सभी मुद्दों पर बात हुई है। उन्हें छत्तीसगढ़ आने का न्यौता दिया। जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया है। वह अगले सप्ताह छत्तीसगढ़ आएंगे। सीएम ने बताया कि राहुल गांधी बस्तर का दौरा भी करेंगे। राहुल गांधी 2 दिनों के लिए छत्तीसगढ़ आएंगे। इस दौरान राहुल गांधी बस्तर के साथ साथ उत्तर और मध्य छत्तीसगढ़ का दौरा करेंगे। राज्य में क्या विकास कार्य हुए हैं इसको लेकर वह पूरे हिंदुस्तान में जाएंगे। किसानों, आदिवासियों और यहां के लोगों के लिए राहुल गांधी के दिल में प्यार है। राहुल गांधी छत्तीसगढ़ के विकास कार्यों को खुद देखेंगे।

error: Content is protected !!