जल जीवन मिशन : स्वच्छ पेयजल आपूर्ति के लिए 7.96 करोड़ रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति 

रायपुर| छत्तीसगढ़ राज्य के ग्रामीण अंचलों में स्वच्छ पेयजल की आपूर्ति के लिए राज्य सरकार प्रतिबद्ध है। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व और लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री गुरू रूद्रकुमार के मार्गदर्शन में राज्य के ग्रामीण अंचलों में जलजीवन मिशन के तहत 2023 तक 39 लाख परिवारों को नल से जल आपूर्ति की जाएगी। इसी कड़ी में मुंगेली कलेक्टर श्री अजीत वसंत की अध्यक्षता में जल जीवन मिशन के अंतर्गत जिला जल एवं स्वच्छता मिशन की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में कलेक्टर श्री वसंत ने जल जीवन मिशन के अंतर्गत रेट्रोफिटिंग, ऑनलाईन निविदाओं, पाईप लाईन के माध्यम से हर घर जल और उपलब्ध पेयजल स्रोतों से जल नमूनों के परीक्षण आदि के संबंध में विस्तृत जानकारी ली।

जल जीवन मिशन के तहत आठ गांवांे को स्वच्छ पेयजल उपलब्ध कराने हेतु 7 करोड़ 96 लाख 44 हजार रूपए के कार्यों की प्रशासकीय स्वीकृति का अनुमोदन किया गया। इनमें विकासखण्ड लोरमी के ग्राम बांधा एवं गैजी के लिए एक करोड़ 40 लाख 72 हजार, विकास खण्ड मुंगेली के ग्राम देवरी के लिए एक करोड़ 63 लाख 97 हजार, ग्राम धरमपुरा के लिए एक करोड़ 57 लाख 91 हजार, ग्राम कोदवाबानी, कंतेली और रोहराखुर्द के लिए दो करोड़ 69 लाख 98 हजार और विकास खण्ड पथरिया के ग्राम टिकैतपेड्री के लिए 63 लाख 96 हजार के कार्य शामिल हैं। बैठक में कलेक्टर श्री वसंत ने विभिन्न कार्यों में किये जा रहे व्यय राशि के संबंध में जानकारी प्राप्त की और उन्होने विभिन्न कार्यों में किये जा रहे व्यय राशि का अनुमोदन हेतु कार्यों की टाईम लाईन बनाकर प्रस्तुत करने के लिए लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कार्यपालन अभियंता तथा जिला जल एवं स्वच्छता मिशन के सदस्य सचिव श्री संजीव बृजपुरिया को निर्देश दिये। बैठक में उन्होंने उच्च स्तरीय जलागार निर्माण, विद्यमान पेयजल स्त्रोतो से जल नमूनो के परीक्षण हेतु फिल्ड टेस्ट किट और मैदानी अधिकारियों एवं लैब स्टाफ हेतु एफटीके क्रय के संबंध में जानकारी प्राप्त की और आवश्यक निर्देश दिये। इस अवसर पर जिला पंचायत के मुख्य कार्य पालन अधिकारी श्री रोहित व्यास सहित जिला जल एवं स्वच्छता मिशन की सभी सदस्य मौजूद थे।

error: Content is protected !!