22 वर्ष बाद एक दुसरे को देखकर भावुक हुए शासकीय एम.पी.शा.विद्यालय पंडरी के पूर्व छात्र व शिक्षक

०० स्कूल के 22 वर्ष बाद मिले छात्र-छात्रा व शिक्षक, लम्बे अरसे बाद मिलकर हुए भावुक

०० वीआईपी क्लब शंकर नगर मे पूर्व छात्र, शिक्षक मिलन समारोह का किया गया आयोजन  

रायपुर| हम सभी छात्रों ने जहां अपनी शिक्षा की शुरुआत की जिसे हम  शिक्षा का मंदिर कहते है इस पवित्र मंदिर के हम पूर्व छात्र, शिक्षक मिलन समारोह के आयोजन पर हम सभी बच्चो के साथ हमारे शिक्षक भी शामिल हुए अमूमन प्रायवेट विद्यालयों में ही इस प्रकार के आयोजन देखने और सुनने मिलते है  परन्तु आज हम सभी स्कुल के बच्चों ने अपने सरकारी स्कूल में भी इसे करवाया।

स्कूल के पूर्व छात्र अमित शर्मा ने बताया कि आज पूरा दिन हम सब 22 साल पीछे के समय में पहुंच गये और सबसे अच्छी बात आज भी हम सभी  और हंसते खिलखिलाते देखा। आज भी कोई नहीं बदला हमारा शासकीय एम.पी.शा.विद्यालय पंडरी रायपुर  मे हम सभी ने आज से 22 वर्ष पहले अपनी शुरुआती शिक्षा का पहला कदम रखा था, हमारे शिक्षक श्रीमती स्मृता निमजे, श्रीमती असगरी खान, रूपेश घोरमोङे सर इन तीनों शिक्षकों का हमे विशेष योगदान मिला और आज भी ये तीनों शिक्षक हमे 22 साल बाद भी हमारे परिवार की भांति हमे अपने स्नेह से सिंचित करते रहते है| जीवन मे शिक्षक आप का पथ प्रदर्शक होते है जो की सदैव आगे बढने हमे प्रेरित करते है। हम सभी को इतने दिनों बाद भिलाई निवासी हमारी निमजे मैम ने फेसबुक के माध्यम से ढूंढ लिया फिर सभी का वाट्सप गुर्प बनाया गया और आज वीआईपी क्लब शंकर नगर मे हम सभी ने मैम सर को मिलकर अपने पुराने दिनों को याद किया हम सभी ने अपने गुरुजनों के साथ अपना समय बिताये और गुरूजनो का सम्मान करके मन आनंदित हुआ हम सभी ने सर मैम को इस अवसर पर आमंत्रित किया था सभी ने अपने अपने गुरुजनों का शाल बुके एवं  पौधा दे कर संम्मान किया सभी ने साथ मे दोपहर का भोजन किया और गुरू जनो ने अपने अनुभवों से हमे आगे बढने को प्रेरित किया  इस आयोजन का मुख्य उद्देश्य सभी छात्रों एवं छात्राओं का आगे भी ऐसे और सभी का मिलन समारोह करना और  22साल बाद मिलने पर सभी आज कहाँ कहाँ अपनी सेवा दे रहे है था पुनः परिवार के साथ एक दुसरे के साथ मिलकर सर मैम के साथ पिकनिक जाने का आयोजन होना है इस आयोजन मे उङिसा सिलयारी माढर भिलाई से हमारे साथी पहुंचे थे जो कि सभी विधार्थी पने अपने क्षेत्र मे आगे बढते हुए अपने गुरुजनों का मान बढा रहे है। शिवानी राहंग्ङाले, शिखा, श्वेता चंद, फहीम खान, यासमीन, अक्षय जेम्स, रंजिता जेम्स, अमित शर्मा, रेखा पाठक, रानी तोङेकर, शीलू सोनी, रेखा राजपूत हम सभी छात्र छात्राओं ने अपने गुरुजनों के साथ आज मिल कर अपना बचपन याद किया, सभी का आभार व्यक्त अमित शर्मा ने किया|

error: Content is protected !!