जल जीवन मिशन के कार्य हो रहे मिशन मोड पर: मंत्री गुरु रूद्रकुमार

०० 3285 गांवों में 4183 नल-जल योजनाओं के लिए 1018.65 करोड़ रुपए के कार्यादेश जारी

रायपुर| लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी एवं ग्रामोद्योग मंत्री गुरु रूद्रकुमार ने कहा है कि छत्तीसगढ़ के ग्रामीण अंचलों में लोगों को पेयजल सुविधा उपलब्ध कराने के लिए स्वीकृत नज-जल योजनाओं को मिशन मोड में पूरा किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण काल की विषम परिस्थितियों के बाद भी जल जीवन मिशन के कार्यों को तेजी से पूरा किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की 39 हजार परिवारों के घरों में नल से जल की आपूर्ति का काम वर्ष 2023 तक पूरा कर लिया जाएगा। स्वीकृत पेयजल योजनाओं को समय-सीमा में पूरा करने के लिए विभागीय अधिकारी और मैदानी अमला पूरी तरह मुस्तैदी से कार्य कर रहे हैं। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की मंशा के अनुरूप राज्य में लोगों को हर घर नल से जल उपलब्ध कराना हमारी सर्वाेच्च प्राथमिकता है, जिसके लिए हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं।

जल जीवन मिशन संचालक श्री एस. प्रकाश ने बताया कि छत्तीसगढ़ में जल जीवन मिशन के तहत स्वीकृत नल-जल योजनाओं का कार्य तेजी से चल रहा है। जल जीवन मिशन के अंतर्गत विभिन्न जिलों की जिला जल एवं स्वच्छता मिशन के द्वारा 12 अगस्त तक 3285 गांवों में 4183 योजनाओं के लिए लगभग 1018.65 करोड़ रुपए के कुल 1844 कार्यादेश जारी कर दिया गया है, जिसके तहत जिला राजनांदगांव में 187, धमतरी में 159, जांजगीर-चांपा में 118, कोरबा में 107, रायगढ़ में 112, सूरजपुर में 90, रायपुर में 87, बेमेतरा में 97, दुर्ग में 78, महासमुंद में 72, गरियाबंद में 70, अंबिकापुर में 66, जशपुर में 65, कांकेर में 76, मुंगेली में 64, बालोद में 45, बस्तर (जगदलपुर) में 44, बीजापुर में 47, कबीरधाम में 44, बलरामपुर में 43, बालौदाबाजार में 35, बिलासपुर में 26, कोरिया (बैकुण्ठपुर) में 26, कोण्डागांव में 23, नारायणपुर में 39, दंतेवाड़ा में 23 और सुकमा जिले में एक कार्यादेश जारी किया गया है। जारी समस्त कार्यादेश में कुल 4 लाख 58 हजार 330 घरेलू नल कनेक्शन दिया जाएगा। इन सभी योजनाओं की मॉनिटरिंग जिलों के जिला जल एवं स्वच्छता मिशन द्वारा की जा रही है।

error: Content is protected !!