छत्तीसगढ़ में खाद की केन्द्र निर्मित कमी के खिलाफ कांग्रेस का धरना प्रदर्शन

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम धरसीवा और कवर्धा में आंदोलन में हुये शामिल

पूरे राज्य में सभी जिला और ब्लाक मुख्यालयों में किया गया विरोध प्रदर्शन

रायपुर। छत्तीसगढ़ में खाद की केन्द्र निर्मित कमी के खिलाफ कांग्रेस ने आज प्रदेश के सभी 34 जिला मुख्यालय एवं 307 ब्लाकों में धरना प्रदर्शन किया। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने धरसीवा ब्लाक और कबीरधाम कवर्धा के धरना प्रदर्शन आंदोलन में शामिल हुये। प्रदेश के समस्त जिला एवं ब्लाक मुख्यालयों में एक दिवसीय धरना प्रदर्शन करते हुये किसानों को तत्काल राहत पहुंचाये जाने और छत्तीसगढ़ को अविलंब भरपूर मात्रा में खाद मुहैया कराये जाने की मांग को लेकर प्रधानमंत्री के नाम सक्षम अधिकारी को ज्ञापन सौपा गया।

छत्तीसगढ़ सरकार के द्वारा केन्द्र सरकार से 11.75 लाख मीट्रिक टन खाद की मांग की गयी थी लेकिन केन्द्र सरकार ने छत्तीसगढ़ को अभी तक मात्र 5.27 लाख मीट्रिक टन खाद दी है। छत्तीसगढ़ मूलरूप से धान उत्पादक प्रदेश है। धान की फसल ज्यादातर खरीफ में ली जाती है। अर्थात खाद की आवश्यकता अभी है। ऐसे समय खाद का संकट होना, खाद की कमी होना भाजपा शासित उत्तरप्रदेश और मध्यप्रदेश को 90 प्रतिशत उनके जरूरत के खाद दी जा चुकी है, लेकिन छत्तीसगढ़ को खाद आबंटन में केन्द्र सरकार के द्वारा सौतेला व्यवहार किया जा रहा है। जो भाजपा के छत्तीसगढ़ विरोधी, किसान विरोधी और धान विरोधी रवैये का एक और जीताजागता सबूत है। रायपुर शहर, रायपुर ग्रामीण, बलौदाबाजार, गरियाबंद, महासमुंद, धमतरी, बालोद, दुर्ग शहर, दुर्ग ग्रामीण, भिलाई शहर, बेमेतरा, राजनांदगांव शहर, राजनांदगांव ग्रामीण, कवर्धा, जगदलपुर शहर बस्तर ग्रामीण, सुकमा, नारायणपुर, कोण्डागांव, बीजापुर, कांकेर, दंतेवाड़ा, बिलासपुर शहर, बिलासपुर ग्रामीण, गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही, मुंगेली, कोरबा शहर, कोरबा ग्रामीण, जांजगीर-चांपा, रायगढ़ शहर, रायगढ़ ग्रामीण, जशपुर, सरगुजा, सूरजपुर, बलरामपुर, कोरिया सहित कांग्रेस के सभी जिला एवं ब्लाकों में कांग्रेसजनों ने विरोध प्रदर्शन किया।

error: Content is protected !!