सफलता का कोई शार्टकट नहीं, पूरे मनोयोग से करें पढ़ाई: राजकुमार पटेल

०० नव प्रवेशी छात्र-छात्राओं का तिलक लगाकर अभिनंदन

रायपुर| शाकम्बरी बोर्ड के अध्यक्ष श्री राजकुमार पटेल आज जांजगरी-चांपा जिले के पामगढ़ विकासखंड स्थित शासकीय हायर सेकंडरी स्कूल भैंसो में आयोजित शाला प्रवेश उत्सव कार्यक्रम में शामिल हुए। इस अवसर पर उन्होंने नव प्रवेशी छात्र-छात्राओं को तिलक लगाकर उनका अभिनंदन किया और उन्हें बधाई व शुभकानाएं दी। अध्यक्ष श्री पटेल ने इस मौके पर छत्तीसगढ़ शासन की निःशुल्क पाठ्यपुस्तक वितरण योजना के अंतर्गत शालेय विद्यार्थियों को पाठ्यपुस्तकें वितरित की।   कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ पटेल मरार समाज के प्रदेश अध्यक्ष प्रेम पटेल, जनपद पंचायत सक्ती के सभापति जितेंद्र चौहान, सरपंच आकाश सिंह, सर्वश्री घासी राम चौहान, फीरत पटेल विवेक पटेल, माखन, राजेश्वर रत्नाकर एवं अन्य जनप्रतिनिधि व गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

शाकम्बरी बोर्ड के अध्यक्ष श्री पटेल ने छत्तीसगढ़ राज्य में शिक्षा की बेहतरी के लिए प्रदेश सरकार द्वारा किए जा रहे प्रयासों का उल्लेख करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की पहल पर राज्य के गरीब परिवार के बच्चों को अंग्रेजी माध्यम में निःशुल्क शिक्षा उपलब्ध कराने के लिए स्वामी आत्मानंद स्कूल संचालित किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के चलते बीते 16 महीनों से स्कूल बंद थे। कोरोना की वजह से विद्यार्थियों के अध्ययन-अध्यापन सहित उनकी अन्य गतिविधयां ठप्प हो गई थी, जिससे बच्चों को नुकसान हुआ है। उन्होंने राज्य में स्कूलों के संचालन के निर्णय के लिए मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल का आभार जताया और कहा कि स्कूल खुलने से बच्चों को अध्ययन-अध्यापन के साथ-साथ खेलकूद की गतिविधियों में शामिल होने का मौका मिलेगा। अध्यक्ष श्री पटेल ने स्कूली बच्चों से शाला में अध्ययन-अध्यापन के दौरान कोरोना प्रोटोकाल का पालन तथा हाथ को सेनेटाईज करते रहने तथा मास्क का उपयोग अनिवार्य रूप से करने की सीख दी। उन्होंने इस मौके पर शाला प्रबंधन समिति को समय-समय पर स्कूल की कक्षाओं एवं परिसर को सेनेटाईज करने तथा साफ-सफाई पर विशेष रूप से ध्यान देने की अपील की। उन्होंने छात्रों को मन लगाकार पढ़ाई करने और अपने जीवन का लक्ष्य निर्धारित कर उसे हासिल करने के लिए प्रेरित किया। श्री पटेल ने कहा कि सफलता का कोई शार्टकट नहीं होता, इसके लिए नियमित रूप से पूरी लगन के साथ मेहनत करना होता है। कार्यक्रम के प्रारंभ में शाला प्रबंधन समिति के पदाधिकारियों एवं स्कूली बच्चों द्वारा अतिथियों का पुष्पाहार से स्वागत-अभिनंदन किया गया।

error: Content is protected !!