सावन मॉस में प्रकृति खुलकर निखरती है, यह सर्वोत्तम मॉस है : बृजमोहन अग्रवाल

00 सावन `इंद्रधनुष महोत्सव` के प्रतिभागियों बृजमोहन ने वितरित किए पुरस्कार
रायपुर। भाजपा विधायक व पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने शुभम शिक्षण एवं कला संस्थान व अखिल भारतीय गोरक्षा महासंघ द्वारा आयोजित सावन इंद्रधनुष महोत्सव को संबोधित करते हुए कहा कि प्रकृति का पूर्ण स्वरूप हमें सावन में ही देखने को मिलता है। जब सर्वत्र हरियाली रहती है। हरियाली हमें जीवन में संघर्ष उन्नति एवं हर परिस्थिति में सदैव आगे बढ़ने की सीख देती है। सावन हमें प्रकृति के साथ मिलकर जीने की सीख देती है। कोरोना के चलते पिछले सावन में कोई भी कार्यक्रम आयोजित नहीं हो पाया था। प्रकृति ने हमें इस बार थोड़ी सी छूट दी है , कि हम सावन में मिल जुल सकें इसका मतलब यह नहीं की हम कोविड-19 प्रोटोकॉल का उल्लंघन करें।
श्री अग्रवाल ने कहा कि सावन का मौसम सभी को भाता है सारी प्रकृति इस दौरान खुलकर निखरती है प्रकृति की सुंदरता मन मोह लेती है हमारे शास्त्रों में भी सावन मास को सर्वोत्तम मास कहा जाता है कहां गए हैं कि सावन मास में ही समुद्र मंथन हुआ था वही भगवान शिव को भी सावन का महीना बहुत प्रिय था सावन महीने में ही भगवान शिव पृथ्वी पर अवतरित होकर अपने ससुराल गए थे इस प्रकार सावन मास का बड़ा महत्त्व है आज जो यह इंद्रधनुष महोत्सव का आयोजन है इसकी छटा भी निराली है आप सभी महिला कार्यकर्ताओं एवं बहनों को सावन महोत्सव के बधाई एवं शुभकामनाएं। अग्रवाल ने इंद्रधनुष महोत्सव में शामिल प्रतिभागियों श्रीमती गोपा शर्मा, खुशबू शर्मा, अमृता श्रीवास्तव, प्रीति मिश्रा, शुभम मजूमदार को पुरस्कार वितरण भी किया। कार्यक्रम में तिलोकचंद बरडिया, राजेश बरलोटा, ललित, रविंद सिंग, गणेश सिंह परिहार, महुआ मजूमदार, सावित्री जगत सहित अनेक समाजसेवी एवं संगठन के महिला कार्यकर्ता उपस्थित थे। कार्यक्रम का आयोजन शुभम शिक्षण एवं कला संस्थान की श्रीमती महुआ मुजूमदार ने किया था तथा संचालन लक्ष्मी नारायण लाहोटी व उर्मिला देवी ने किया।

error: Content is protected !!