संसदीय सचिव विधायक अम्बिका सिंहदेव का प्रयास लाया रंग

पटना को मिला पूर्ण तहसील का दर्जा

छत्तीसगढ़ शासन के राजपत्र में नई तहसील के तौर पर पटना का नाम प्रकाशित

बैकुंठपुर। पटना को पूर्ण तहसील का दर्जा मिल गया है। छत्तीसगढ़ शासन के राजपत्र में पटना का नाम प्रकाशित किया गया है। संसदीय सचिव व स्थानीय विधायक अम्बिका सिंहदेव की पहल से पटना उप तहसील से जल्द ही तहसील के अस्तित्व में आएगा। संसदीय सचिव अम्बिका सिंहदेव ने क्षेत्रवासियों की मांग को मार्च माह में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के समक्ष कोरिया जिला दौरे पर रखा और सीएम ने पटना को तहसील बनाने की घोषणा मार्च माह में कर दी थी। जिस पर अब अमल भी होना शुरू हो गया है। सीएम की घोषणा के बाद संसदीय सचिव के प्रयासों से पटना को पूर्ण तहसील का दर्जा मिल गया है। संसदीय सचिव और बैकुंठपुर विधायक अम्बिका सिंहदेव पटना को पूर्ण तहसील का दर्जा दिलाने के लिए लगातार प्रयास कर रही थी। उनकी कोशिशों ने सरकार का ध्यान भी खींचा। उन्होंने अपने ढाई साल के कार्यकाल में ही पटना को पूर्ण तहसील का दर्जा दिला दिया। जबकि 15 वर्षों की भाजपा सरकार में कई बार मांग उठने के बाद भी यहां के लोगो का सपना साकार नही हो सका। अब पूर्ण तहसील का दर्जा मिलने से क्षेत्रवासियों में जश्न और खुशी का माहौल है।

48 गांव होंगे तहसील में

बैकुंठपुर विधायक व सरकार में संसदीय सचिव अम्बिका सिंहदेव ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि बुधवार 28 जुलाई 2021 को छत्तीसगढ़ शासन के राजपत्र में पटना के नाम प्रकाशित किया गया है। उन्होंने बताया कि 18 पटवारी हल्के के 48 गांव पटना तहसील में शामिल होंगे। पटना को पूर्ण तहसील का दर्जा मिलने से यहां के लोगो की दिक्कतें दूर होगी।

संसदीय सचिव ने जताया आभार

संसदीय सचिव विधायक अम्बिका सिंहदेव ने पटना को पूर्ण तहसील की सौगात मिलने पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, पंचायत मंत्री टीएस सिंहदेव, विधानसभा अध्यक्ष चरणदास महंत, प्रभारी मंत्री ताम्रध्वज साहू और राजस्व मंत्री जय सिंह अग्रवाल समेत राजस्व विभाग का क्षेत्रवासियों की ओर से आभार व्यक्त किया है। वहीं केल्हारी को पूर्ण तहसील का दर्जा मिलने पर केल्हारी वासियों ने विधायक और संसदीय सचिव अम्बिका सिंहदेव और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के प्रति आभार प्रकट किया है।

अम्बिका सिंहदेव ने क्षेत्र की जनता का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि क्षेत्र की जनता ने जिन उम्मीदों के साथ मुझे अपना प्रतिनिधि चुनकर विधानसभा में भेजा है मैं उन उम्मीदों पर खरा उतरने प्रयासरत हूं। जायज मांगो को सरकार के समक्ष रखना और उनका समाधान कराना मेरी प्राथमिकता है। नए तहसील के गठन पर मैं सभी क्षेत्रवासियों को बधाई देती हूं।

error: Content is protected !!