6वें डॉ एपीजे अब्दुल कलाम मेमोरियल लेक्चर में ग्रीन केयर सोसायटी इंडिया ने दी सहभागीता

गीदम/दांतेवाड़ा| भारत के 11वें राष्ट्रपति मिसाइल मेन भारत रत्न डॉक्टर ए पी जे अब्दुल कलाम के 6वें पुण्यतिथि के अवसर डॉ एपीजे अब्दुल कलाम इंटरनैशनल फाऊंडेशन हाउस ऑफ कलाम रामेश्वरम तमिलनाडु द्वारा देश व्याप्त राष्ट्रिय स्तर पर दो दिवसीय कलाम मेमोरियल लेक्चर 2021 का वर्चुअल आयोजन किया गया। कार्यकर्म के मुख्य अतिथि तेलंगाना के राज्यपाल तथा पुदुचेरी के उपराज्यपाल डॉ तामिलसाई सौंदरराजन ने राजभवन से वर्चुअल माध्यम से जुड़ के डॉ कलाम जी को श्रद्धांजलि अर्पित किया और kalamdigitalschool.org वेबसाइट का प्रारंभ किया। डॉ एपीजे अब्दुल कलाम नेशनल मेमोरियल सेंटर, हाउस ऑफ कलाम से विशिष्ठ अतिथि इसरो व डीआरडीओ वैज्ञानिक तथा ब्रह्मोस एयरोस्पेस सीईओ पद्मभूषण डॉ ए शिवतनु पिल्लई, शशि कुमार गेंधम, डॉ एपीजेएम नजीमा मरैकयर, एपीजेएम शेख दाऊद एवं एपीजेएम शेख सलीम, जनरल सेक्रेटरी मिलिंद चौधरी की सहभागिता से श्रृद्धांजलि देते हुए डॉ कलाम जी के जीवनी तथा देश विकास में उनके योगदान के बारे में बताया।

छत्तीसगढ़ से ग्रीन केयर सोसायटी इंडिया के सदस्यों एवं पदाधिकारियों के साथ कार्यक्रम आयोजित कर डॉ एपीजे अब्दुल कलाम जी को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की। संस्था के अध्यक्ष विश्वनाथ पाणिग्रही ने बागबाहरा से और डायरेक्टर अमुजुरी बिश्वनाथ ने दंतेवाड़ा से डॉ एपीजे अब्दुल कलाम जी चित्रपट को फूल अर्पित कर उन्हें याद किया। तत्पश्चात डॉ एपीजे अब्दुल कलाम इंटरनेशनल फाउंडेशन हाउस ऑफ कलाम द्वारा आयोजित कार्यक्रम में लाइव माध्यम से जुड़े तथा पूर्व राष्ट्रपति के आदर्शो पर चलकर उनके सपनों के भारत निर्माण के लिए संकल्प लिया। हाउस आफ कलाम द्वारा दूसरे दिवस आयोजित वर्ल्ड नेचर कंजरवेशन डे में सहभागिता किया । इस कार्यकर्म में डॉ अब्दुल रहमान, बायोलॉजिस्ट प्रो एल राघवेंद्र, डॉ सुजीत कुमार, आईजेन अध्यक्ष डॉ एल रमेश, इसरो वैज्ञानिक गोकुल देवेंद्रन ने प्रकृति सरंक्षण के बारे में जानकारी दी। इस कड़ी में ग्रीन केयर अध्यक्ष विश्वनाथ पाणिग्रही एवं डायरेक्टर अमुजुरी बिश्वनाथ ने संयुक्त विज्ञप्ति जारी कर बताया कि ग्रीन केयर सोसायटी द्वारा वर्ल्ड नेचर कंजर्वेशन डे 2021 के परिप्रेक्ष्य में “फॉरेस्ट, लाइवलीहुड डस्टेनिंग पीपुल एंड प्लानेट” विषय पर साप्ताहिक कैंपेन की शुरूआत किया। जिसमें संस्था के सदस्यों ईश्वरी प्रसाद नायक, कुणाल सिंह सेनापति, रुद्र विजय उदगीरवार, विष्णु महानंद, रूपेश गोयल, प्रवीण खरे, डॉक्टर विकास अग्रवाल, विजय शर्मा, गोवर्धन लाल बघेल, पंडित भागीरथी दुबे तेंदू कोना, पंडित टिकेश्वर मिश्रा बैतारी सरायपाली, योगेश बढ़ाई मोहगांव हिस्सा लिया ।

error: Content is protected !!