सदस्यों ने अपने कार्य व्यवहार से संसदीय परंपरा की गरिमा को दी एक नई ऊंचाई: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

०० विधानसभा का सत्र संक्षिप्त पर सार्थक रहा, मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष ने सत्र की सफलता के लिए सभी का आभार जताया

रायपुर| मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज पंचम विधानसभा के 12वें सत्र के समापन अवसर पर इसकी सफलता को लेकर विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत, नेताप्रतिपक्ष श्री धरमलाल कौशिक, मंत्री एवं विधायकगणों सहित व्यवस्था के संचालन में प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रूप से सहभागी रहे, सभी लोगों का धन्यवाद ज्ञापित किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि विधानसभा का यह पावस सत्र संक्षिप्त होने के बावजूद भी सार्थक रहा। सत्र के दौरान सदस्यों ने अपने क्षेत्र की समस्याओं से संबंधित प्रश्न, ध्यानाकर्षण, स्थगन, अशासकीय संकल्प, लोकहित के मुद्दों पर सदन का ध्यान आकर्षित किया। उन्होंने कहा कि इस सत्र में संसदीय प्रणाली के सभी आयामों का उपयोग हुआ है। पंचम विधानसभा के इस पावस सत्र में पहली बार अशासकीय संकल्प प्रस्तुत हुआ।
मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि छत्तीसगढ़ विधानसभा के सदस्यों ने अपने कार्य व्यवहार से संसदीय परंपरा की गरिमा को एक नई ऊंचाई दी है। पक्ष-विपक्ष के सभी सदस्यों ने विधानसभा अध्यक्ष के मार्गदर्शन में जनहित के मुद्दों पर सार्थक चर्चा और समस्याओं का समाधान भी किया है। उन्होंने नेता प्रतिपक्ष सहित मंत्रिमण्डलीय सहयोगियों एवं सदस्यों को सत्र के दौरान बेहद सूझबूझ और सजगता के साथ अपनी बात रखने के लिए बधाई और शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि विधानसभा के नए सदस्यों ने अपने क्षेत्र की समस्याएं सदन के समक्ष रखी और चर्चा में सजगता से भाग लिया। मुख्यमंत्री ने पावस सत्र के समापन अवसर पर राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके द्वारा उत्कृष्ट विधायकों के सम्मान समारोह में शामिल होकर गौरव प्रदान करने के लिए उनका विशेष रूप से आभार जताया। मुख्यमंत्री ने पावस सत्र के दौरान संसदीय कार्य मंत्री श्री रविन्द्र चौबे के उत्कृष्ट दायित्व निर्वहन की सराहना की और कहा कि सभी सदस्यगणों ने अपने कार्य व्यवहार से संसदीय परंपरा की गरिमा को एक नई ऊंचाई दी है। उन्होंने उत्कृष्ट विधायक के रूप में सम्मानित श्री नारायण चंदेल, श्री सौरभ सिंह, श्री कुलदीप सिंह जुनेजा एवं श्री अरूण वोरा को भी बधाई दी। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा कि पावस सत्र में हिस्दुस्तान में पहली बार कृषि भूमिहीन मजदूरों की आर्थिक मदद के लिए बजट में प्रावधान किया। यह मील का पत्थर साबित होगा। इस सत्र में तीन विधेयक पारित किए गए। सत्र के दौरान प्रदेश के हित में, जनता के हित में, छात्रों के हित में उठाए गए कदम के लिए उन्होंने पूरे सदन को बधाई दी। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर प्रिन्ट एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया से मिले सहयोग के लिए भी आभार जताया। नेता प्रतिपक्ष श्री धरमलाल कौशिक, विधायक श्री धर्मजीत सिंह, विधायक श्री केशव चंद्रा ने भी समापन अवसर पर विधानसभा के पावस सत्र में जनहित के मुद्दों पर हुई सार्थक चर्चा और नए सदस्यों की सहभागिता की सराहना की और कहा कि विधानसभा अध्यक्ष के नेतृत्व में यह सत्र सफल रूप से आयोजित हुआ। उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष, मुख्यमंत्री, मंत्रीगणों एवं सदस्यों के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया।

error: Content is protected !!