विधानसभा : कांग्रेस विधायक ने उठाया फर्नीचर खरीदी में अनियमितता का मामला

00 स्कूल शिक्षा मंत्री ने डीईओ को किया अटैच
00
विपक्ष ने उठाया बलौदाबाज़ार के श्री सीमेंट प्लांट हादसे का मामला
रायपुर। मानसून सत्र के दौरान आज सदन में फ़र्नीचर खरीदी में अनियमितता का मामला गूंजा। कांग्रेसी विधायक आशीष छाबड़ा ने फर्नीचर खरीदी में अनियमितता का मामला उठाया। उन्होंने ध्यानाकर्षण के ज़रिए ये मामला उठाया।
विधायक छाबड़ा ने अधिकारियों द्वारा सदन में गलत जानकारी देने की भी शिकायत की। इसके बाद सत्ता पक्ष के विधायक को विपक्ष का साथ मिला । बृजमोहन अग्रवाल ने कहा सभी जिलों में यही हाल है। विधानसभा की कमेटी से इसकी जांच करायी जाए। मामले को लेकर विपक्ष ने किया हंगामा। इसके बाद स्कूल शिक्षा मंत्री ने सदन से घोषणा की कि जिला शिक्षा अधिकारी को हटाया गया है। बेमेतरा जिला शिक्षा अधिकारी को हटाकर संयुक्त संचालक दुर्ग में अटैच किया गया। स्कूल शिक्षामंत्री ने मामले की जांच के बाद आगे कार्रवाई की बात की।
00 बलौदाबाज़ार के श्री सीमेंट प्लांट में हुये हादसा का मामला उठा :- ध्यानाकर्षण के ज़रिए सदन में बलौदाबाज़ार के श्री सीमेंट प्लांट में हुए हादसा का मामला उठा। भाजपा विधायक सौरभ सिंह, नारायण चंदेल और जनता कांग्रेस विधायक प्रमोद शर्मा ने उठाया मुद्दा। सौरभ सिंह ने पूछा- बलौदाबाजार में सीमेंट प्लांट का काम चल रहा है, जिसमें शिफ्टिंग के दौरान गिर जाने से कुछ लोग घायल हुए 2 की मौत हुई। जिला प्रशासन के मौन रहने से जनता में आक्रोश है। श्रम मंत्री शिव डहरिया ने कहा- यह कहना सही नहीं है कि मृतक के परिजनों को अबतक कोई मुआवज़ा राशि नहीं दी गई, सभी को 1 लाख रुपये त्वरित और 16 लाख के चेक दिए गए हैं। मृतक श्रमिको के आश्रितों को मासिक पेंशन दिया जएगा। जांच में यह पाया गया है कि भूतल से लोहे की सरिया को लिफ्ट कर शिफ्टिंग के दौरान 85 मीटर नीचे गिरने के कारण सुरक्षा सम्बन्धी कार्यों का पालन नहीं किये जाने पर कार्य को रोक गया है। फैक्ट्री मैनेजर के खिलाफ एफआईआर हुआ है। श्रम अधिनियम के तहत दर्ज हुआ है, 304a के तहत अपराध दर्ज किया गया है। भाजपा विधायक शिवरतन शर्मा ने कहा– मानवीय संवेदना के आधार पर पीड़ितों को मदद दी जाये। नियमों के परे जाकर संवेदना को ध्यान दें। ये संवेदनहीन सरकार है।

error: Content is protected !!