विधानसभा : सदन में उठा गोबर चोरी का मामला, संतोषप्रद जवाब नहीं मिलने पर विपक्ष ने किया वॉकआउट

00 विपक्ष ने खरीदी केंद्रों में गोबर चोरी पर सरकार को घेरा
रायपुर। सदन में प्रश्नकाल के दौरान विपक्ष ने गोबर खरीदी केंद्रों से गोबर चोरी का मामला उठाया। मुद्दे पर चर्चा के दौरान हंसी-ठहाके के बीच सरकार ने माना कि चार गोबर ख़रीदी केंद्रों से गोबर चोरी होने और बहने की शिकायत आई है। आखिर में बात गौठानों के संचालन में पंचायतों के अधिकार के हनन तक पहुंची, जिस पर सत्ता पक्ष के जवाब से असंतुष्ट होकर भाजपा विधायकों ने सदन से वॉकआउट किया।
नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने गोबर खरीदी केंद्रों से गोबर चोरी का मामला उठाया। उन्होंने कहा कि गोबर की चोरी भी हुई है और गोबर पानी में भी बहा है। कृषि मंत्री रविंद्र चौबे ने कहा कि गोबर ख़रीदी योजना शुरू होने से अब तक 4 लाख 86 हज़ार 904 टन गोबर की ख़रीदी हुई है। 97 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया है। खरीदे गए गोबर से वर्मी कॉम्पोस्ट, सुपर कम्पोस्ट तथा अन्य सामग्री का उत्पादन किया जा रहा है। इन उत्पादों के विक्रय से 54 करोड़ की राशि सरकार को प्राप्त हुई है। राज्य में 11 हज़ार गौठान का काम चल रहा है. एक हजार से अधिक गौठान स्वालंबी हो गये है। भाजपा विधायक शिवरतन शर्मा ने पूछा कि गोबर को सुरक्षित रखने की ज़िम्मेदारी किसकी है? मंत्री रविंद्र चौबे ने कहा कि पंचायतीराज अधिनियम के तहत गौठान बनाये गये हैं। ग़ौठान पंचायत की संपत्ति है, पंचायत समिति इसकी देखरेख करते हैं। इस पर भाजपा विधायक शिवरतन शर्मा ने आरोप लगाया कि ग़ौठान समितियों में राजनीतिक लोगों की नियुक्ति कर दी गई है। सरकार पंचायत के अधिकार का अतिक्रमण कर रही है। भाजपा विधायक अजय चंद्राकर ने पूछा कि गौठान समितियों को भुगतान क्या हुआ है? कृषि मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री ने 15 दिन के भीतर भुगतान किये जाने का कमिटमेंट किया है, निरंतर भुगतान हो रहा है। किसी का भुगतान नहीं रोका जायेगा। भाजपा विधायक बृजमोहन अग्रवाल और नारायण चंदेल ने पूछा कि गौठानों के संचालन के लिये क्या पंचायतों को पूरा अधिकार दिया जायेगा? ये पंचायतों के अधिकार में दख़ल है। कृषि मंत्री रविंद्र चौबे ने कहा कि पंचायत के किसी अधिकार का हनन नहीं हुआ है। कृषि रविंद्र चौबे ने कहा कि ये योजना सफल लग रही है। आज सदन में कई सवाल इसे लेकर लगे हैं। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक और जनता कांग्रेस विधायक दल के नेता धर्मजीत सिंह दोनों के सवाल लगे हैं। मंत्री अमरजीत भगत ने टिप्पणी करते हुये कहा कि दोनों मिलकर गोबर कर रहे हैं। स्पीकर डॉक्टर चरणदास महंत ने चुटकी लेते हुये कहा कि ग़लत चीज़ मत बोलिये, दोनों गुड़ गोबर कर रहे हैं। अमरजीत भगत ने कहा कि पूरे विपक्ष के दिमाग़ में गोबर घुस गया है। कुछ समझ ही नहीं पा रहे हैं।

error: Content is protected !!