28 जुलाई को पूरे जिले के गौठानों और चारागाह मे होगा वृहद पौधारोपण – कुणाल

दिव्यांगों को उनकी क्षमता के अनुरूप रोजगार मूलक कार्यों में नियोजित करने के निर्देश

बैकुण्ठपुर। जिला पंचायत के मंथन कक्ष में महात्मा गांधी नरेगा योजना के तहत निर्धारित मानकों में प्रत्येक जनपद पंचायत की समीक्षा करते हुए जिला पंचायत के मुख्यकार्यपालन अधिकारी ने आवष्यक दिशा-निर्देष दिए। मंथन कक्ष में आयोजित इस समीक्षा बैठक को संबोधित करते हुए जिला पंचायत के मुख्यकार्यपालन अधिकारी कुणाल दुदावत ने कहा कि कलेक्टर कोरिया  श्याम धावड़े के निर्देषानुसार प्रत्येक ग्राम पंचायत में 28 जुलाई को पौधारोपण कराया जाना है। पौधारोपण कार्य मे स्थानीय जनप्रतिनिधियों के साथ ग्राम गौठान समितियों के सदस्यों को भी जोड़ें ताकि पौधारोपण को कलेक्टर कोरिया की मंषानुरूप जन अभियान बनाया जा सके। इस पौधारोपण अभियान के लिए आवष्यक तैयारी पूर्ण करने के निर्देष देते हुए उन्होने कहा कि सभी ग्राम गौठानों, चारागाहों और सार्वजनिक स्थानों में जहां सुरक्षा की व्यवस्था हो वहां पर अनिवार्य रूप से पौधारोपण कराएं। जिला पंचायत सीइओ ने कहा कि फलदार पौधों के रोपण पर विशेष जोर दें ताकि आने वाले समय में फलों के उत्पादन से भी समितियों की आय सुनिष्चित हो सके। पौधारोपण कार्य में बड़े पौधे लगाए जाने के निर्देश देते हुए उन्होने कहा कि कदंब जैसे पौधों की बढ़त जल्द होती है इसलिए इसके फलदार पौधे ज्यादा से ज्यादा मात्रा में लगाएं। कार्यक्रम अधिकारियों को आजादी के अमृत महोत्सव पर राज्य स्तर से प्राप्त निर्देशों के अनुरूप पौधारोपण कार्य संपादित कराए जाने के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि कोविड से बचाव के लिए सभी प्रोटोकॉल का ध्यान रखकर यह आयोजन कराएं। तृतीय चरण के सभी गौठानों के पूर्णता के लिए समय सीमा तय करते हुए जिला पंचायत सीइओ ने सभी को आगामी माह में अनिवार्य रूप से पूर्ण कराए जाने के निर्देश दिए।
समीक्षा बैठक में उपस्थित कार्यक्रम अधिकारियों को निर्देशित करते हुए जिला पंचायत सीइओ ने कहा कि प्रत्येक ग्राम पंचायत स्तर पर मनरेगा योजना अंतर्गत कुछ श्रमिक दिव्यांगों की श्रेणी में दर्ज हैं। एैसे पंजीकृत श्रमिकों को प्रत्येक कार्यस्थल पर पेयजल आपूर्ति, बच्चों की देखभाल, ड्रेसिंग जैसे सहज सरल कार्य प्रदाय करें ताकि उनके लिए महात्मा गांधी नरेगा के तहत कार्य करना आसान हो। पंजीकृत श्रमिकों में वनाधिकार पत्रक धारी परिवारों को अनिवार्य रूप से 100 दिवस का अकुषल श्रम प्रदान करने के निर्देश देते हुए जिला पंचायत के मुख्यकार्यपालन अधिकारी ने कहा कि ग्राम पंचायतों में एैसे पंजीकृत परिवारों का चिंहाकन कर उनके सामूहिक बाड़ी विकास के कार्य प्रस्ताव एक पखवाड़े में जिला पंचायत में स्वीकृति के लिए प्रस्तुत करें। इससे उन परिवारों को बेहतर रोजगार के साथ आजीविका के संसाधन बनाने में मदद मिलेगी। समीक्षा बैठक में जिला पंचायत सीइओ ने ग्राम पंचायतों में होने वाले नरवा सुधार के तहत सभी कार्यों के प्रस्ताव अविलंब जिला पंचायत में प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। वन विभाग को स्वीकृत आवर्ती चराई योजना के लंबित कार्यों पर नाराजगी व्यक्त करते हुए उन्होने समीक्षा बैठक में उपस्थित वन विभाग के अनुविभागीय अधिकारियों को समय सीमा का ध्यान रखकर लंबित कार्यों को शीघ्रता से पूर्ण कराने के निर्देश दिए।
महात्मा गांधी नरेगा के तहत बीते वर्षों के स्वीकृत सभी कार्यों को पूर्ण कराने के लिए निर्देशित करते हुए उन्होंने कहा कि सभी तकनीकी सहायक अपने ग्राम पंचायतों में लंबित कार्यों के लिए अभियान चलाकर आगामी एक सप्ताह मे सभी पूर्ण कार्यों की ऑनलाइन पूर्णता दर्ज करें। उन्होने प्रत्येक गौठान से लगे चारागाहों में नेपियर, मक्का बहुवर्षीय ज्वार जैसी फसलों की बुआई कराने और उसके साथ फलोद्यान तैयार करने के लिए पौधारोपण कार्य को एक सप्ताह में पूर्ण कराने के निर्देष दिए। गौठानों के निर्माण की प्रगति की समीक्षा करते हुए जिला पंचायत सीइओ ने लापरवाह तकनीकी सहायकों को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देष दिए। पंचायत भवनों के निर्माण कार्यों के साथ आंगनबाड़ी केंद्रो को अविलंब पूर्ण कराने के निर्देषित करते हुए श्री दुदावत ने कहा कि ग्राम पंचायतों को स्वीकृत  सभी वर्मी टांके आगामी माह में गुणवत्ता के साथ पूरा करांए। समीक्षा बैठक में जिला पंचायत सीइओ ने हाट बाजार निर्माण, वन धन विकास केंद्र निर्माण, ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन केंद्र आदि निर्माण कार्यों के अलावा मोबाइल मॉनिटरिंग सिस्टम, रिजेक्ट ट्रांजेक्शन, जीआईएस बेस्ड प्लांनिंग, वंचित परिवारों को रोजगार की उपलब्धता, कार्यों की पूर्णता, वनाधिकार पत्रक धारियों को आजीविका सुधार के कार्यों की प्रगति जैसे अन्य महत्वपूर्ण बिंदुओं पर जनपद वार समीक्षा कर संबंधित अधिकारियों को अपेक्षित प्रगति के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश प्रदान किए। इस समीक्षा बैठक में सभी जनपद पंचायतों के कार्यक्रम अधिकारी, ग्रामीण यांत्रिकी सेवा विभाग के सभी अनुविभागीय अधिकारी, जिले भर के तकनीकी सहायक उपस्थित रहे।

error: Content is protected !!