मंत्री श्रीमती भेंड़िया गांव कलकसा में वजन त्यौहार में हुईं  शामिल, 25 नंद घर का किया लोकार्पण  

रायपुर| महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा प्रदेश में 7 से 16 जुलाई तक वजन त्यौहार का आयोजन किया जा रहा है। इसी कड़ी में महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती  अनिला भेंड़िया आज बालोद जिले के डौंडीलोहारा विकासखंड स्थित गांव गांव कलकसा में आयोजित वजन त्यौहार में शामिल हुईं। इस अवसर पर उन्होंने कलकसा में नंद घर का लोकार्पण करने के साथ जिले के 25 आंगनबाड़ी केंद्रों में नंद घर प्रोजेक्ट की शुरूआत की। नंद घर को बच्चों की रुचि के अनुसार आकर्षक और सुविधायुक्त बनाया गया है। श्रीमती भेंड़िया ने सीएसआर मद से चलाए जा रहे नंद घर प्रोजेक्ट की सराहना की।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए श्रीमती भेड़िया ने कहा कि बच्चों को कुपोषण एवं महिलाओ को एनीमिया से मुक्त कराने के लिए पूरे प्रदेश में मुख्यमंत्री सुपोषण योजना संचालित की जा रही है। महिला बाल विकास विभाग के माध्यम से गर्भवती महिलाओं, नवजात शिशुओं और किशोरियों को सुपोषित करने अभियान चलाया जा रहा है। छत्तीसगढ़ में कुपोषण मुक्ति अभियान में वजन त्यौहार की अहम भूमिका है। इस साल कोविड-19 के सुरक्षा मानकों का पालन करते 7 से 16 जुलाई तक प्रदेश में वजन त्यौहार मनाया जा  रहा है। उन्होंने बच्चों को आंगनबाड़ी लाकर उनके पोषण स्तर की जांच कराने की अपील की और आंगनवाड़ी केन्द्र में आने वाली 11 से 18 वर्ष की सभी किशोरी बालिकाओं से भी कहा है कि आंगनबाड़ी आकर अपना हीमोग्लोबिन और बीएमआई टेस्ट करवाएं। जिससे सही समय पर उनमें एनीमिया के स्तर का पता कर नियंत्रण किया जा सके। उन्होंने कहा कि सभी लोग वजन उत्सव में सक्रिय भागीदारी निभाएं जिससे कुपोषण-मुक्त स्वस्थ छत्तीसगढ़ के लक्ष्य को प्राप्त किया जा सके। इस दौरान  पांच वर्ष तक के बच्चों का वजन और ऊंचाई का माप लेकर उनका सुपोषण स्तर ज्ञात किया गया। कार्यक्रम में जनप्रतिनिधिगण, गांव के पंच-सरपंच, महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारी-कर्मचारी सहित नागरिकगण मौजूद थे।

error: Content is protected !!