पेशनरो ने जुलाई 2019 से घोषित 5% महगाई राहत को तत्काल देने सरकार से की मांग

रायपुर। छत्तीसगढ़ राज्य संयुक्त पेन्शनर फेडरेशन ने मुख्यमंत्री कार्यालय में ट्वीट कर मुख्यमंत्री से राज्य के सेवानिवृत्त सरकारी कर्मचारियों (पेंशनरों) के जुलाई 19 से बकाया 5% प्रतिशत को जिसे कोरोना संक्रमण के गम्भीर समस्या के नाम पर रोके गए है।
अब देश प्रदेश मे लगभग सामान्य हो जाने की स्थिति में हैं। अतः बढ़ती महंगाई के दौर में 21 जुलाई से केन्द्र सरकार से घोषित किए जाने वाले महंगाई राहत के क़िस्त के साथ एरियर्स सहित जनवरी और जुलाई 2020 के रोके गए क़िस्त सहित सभी बकाया क़िस्त एकसाथ देने छत्तीसगढ़ सरकार को अलर्ट रहने की मांग की है। केंद्र से जारी महंगाई राहत के आधार पर छत्तीसगढ़ राज्य सरकार को तत्काल अपने राज्य में भी बिना देर किए इस समय गम्भीर आर्थिक संकट से जूझ रहे पेंशनरों को सहायता करने की जरूरत पर बल दिया है। साथ ही उन्होंने राज्य के पेंशनरों को वंचित रखकर छत्तीसगढ़ के व्यूरोक्रेट को छत्तीसगढ़ के कोष से 19 जुलाई से दिए जा रहे 5% महंगाई भत्ते की राशि के लगातार किए जा रहे भुगतान पर रोष जताया है।

error: Content is protected !!