महिला सशक्तिकरण के प्रदेश सरकार के दावे महिलाओं के साथ हो रही बर्बरता के चलते लहूलुहान हो रहे : शालिनी

0 महिला मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष ने भिलाई के गैंगरेप और पीड़ित युवती को बेसुध दशा में सड़क पर फेंकने और गुरूर में युवती के साथ छेड़छाड़ की घटनाओं का ज़िक्र कर प्रदेश सरकार पर हमला बोला

0 बच्चियों से महिलाओं तक की अस्मत और जान साँसत में, प्रदेश सरकार स्मार्ट पुलिसिंग की सियासी लफ़्फ़ाजियों में मशगूल, कांग्रेस शासन महिलाओं-युवतियों के साथ बर्बरता के लिए जाना जाएगा

0 वारदात की एफ़आईआर होने के दो दिन बीतने के बावज़ूद छेड़छाड़ के आरोपी ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष की गिरफ़्तारी नहीं होना सत्तावादी संरक्षण को प्रमाणित करने के लिए पर्याप्त

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष शालिनी राजपूत ने प्रदेशभर में महिलाओं के अपहरण, बलात्कार और हत्या के मामलों को लेकर प्रदेश सरकार पर तीखा हमला बोला है। श्रीमती राजपूत ने कहा कि महिला सशक्तिकरण के प्रदेश सरकार के दावे महिलाओं के साथ हो रही बर्बरता के चलते लहूलुहान हो रहे हैं। बेहद शर्मनाक स्थिति तो यह है कि अब कांग्रेस के एक पदाधिकारी तक का नाम छेड़छाड़ के मामले में सामने आया है। श्रीमती राजपूत ने कटाक्ष किया कि जो प्रदेश सरकार अपनी एक मंत्री की बुआ तक की रक्षा नहीं कर पाती, जो सरकार कांग्रेस नेता व  पूर्व उपमुख्यमंत्री के परिजनों की हत्या होते देखकर भी क़ानून-व्यवस्था को संतोषजनक बताने की धृष्टता करती हो, उस सरकार से महिलाओं की सुरक्षा की उम्मीदें पालना पूरी तरह बेमानी है।

भाजपा महिला मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष श्रीमती राजपूत ने भिलाई में गैंगरेप करने के बाद एक युवती को बेसुध दशा में कार से लाकर सड़क पर फेंकने और बालोद ज़िले के गुरूर थाना क्षेत्र में इलाज कराने आई युवती के साथ ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष व चिकित्सक डॉ. ओमकार महम्मला द्वारा की गई छेड़छाड़ की घटनाओं का ज़िक्र कर कहा कि महिलाओं का अस्मत पर सरेआम डाका डाला जा रहा है और प्रदेश सरकार को सियासी लफ़्फ़ाजियों से फ़ुर्सत नहीं है। श्रीमती राजपूत ने कहा कि यह प्रदेश सरकार के कार्यकाल को कलंकपूर्ण बताने के लिए काफ़ी है कि जिस दुर्ग संभाग और ज़िले में ख़ुद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू सीदा राजनीतिक ताल्लुक़ रखते हैं, वहाँ महिलाओं और युवतियों के साथ दरिंदग़ी की इंतहा हो रही है। मुख्यमंत्री बघेल और गृह मंत्री साहू के स्मार्ट पुलिसिंग के जुमलों के शोर में प्रदेश की मातृ-शक्ति की चीत्कार को कब तक अनसुना किया जाएगा? सत्तावादी संरक्षण मिलने के चलते अपराधियों का दुस्साहस लगातार बढ़ रहा है और मासूम बच्चियों से लेकर हर आयु-वर्ग की युवतियों-महिलाओं की अस्मत और जान क़दम-क़दम पर साँसत में है। भाजपा महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष श्रीमती राजपूत ने कहा कि कांग्रेस का ढाई वर्षों का शासनकाल महिलाओं-युवतियों के साथ बर्बरता के लिए ही जाना जाएगा। प्रदेश की हर वर्ग की बच्चियों से लेकर महिलाओं के अपहरण, तस्करी, दुराचार और हत्याओं से बहे ख़ून से लथपथ कार्यकाल का ज़वाब समय आने पर प्रदेश सरकार को देना पड़ेगा। श्रीमती राजपूत ने कहा कि यह प्रदेश का दुर्भाग्य है कि महिलाओं के साथ हुए कई अपराधों को अंजाम देने वालों में सत्ता के मद में चूर कांग्रेस के नेता, पदाधिकारी अथवा उनके रिश्तेदारों व क़रीबियों की संलिप्तता ज़ाहिर हुई है और सत्ता का संरक्षण पाकर वे अपने ख़िलाफ़ एफ़आईआर होने के बाद भी छुट्टे घूम रहे हैं। वारदात की एफ़आईआर होने के दो दिन बीतने के बावज़ूद छेड़छाड़ के आरोपी डॉ. ओमकार महम्मला की गिरफ़्तारी नहीं होना इस बात को प्रमाणित करने के लिए पर्याप्त है। श्रीमती राजपूत ने कहा कि क़ानून-व्यवस्था पर संकट को सिरे ख़ारिज कर रही सरकार को इस बात पर शर्म महसूस करनी चाहिए कि उसकी नाक के नीचे राजधानी के ही विभिन्न थाना क्षेत्रों में एक माह में चाकूबाजी की डेढ़ दर्ज़न वारदात हुई है। हाथ में गंगाजल लेकर कसमें खाकर शराबबंदी का वादा करने वाली सरकार को इस सच का सामना भी करना चाहिए कि शराब की दुकानें खुलते ही प्रदेशभर में हत्या, आत्महत्या, लूट-खसोट की वारदातों ने लोगों की ज़िंदग़ी में ज़हर घोल दिया है।

error: Content is protected !!