गाँव के विकास के लिए हम सभी को मिलकर करना होगा प्रयास : जिला पंचायत सभापति अंकित गौरहा

बिलासपुर| जिला पंचायत क्षेत्र के ग्राम पंचायत महमंद,धूमा ढेंका और मानिकपुर का अंकित गौरहा,पूर्व विधायक दीलिप लहरिया,संतोष दुबे ने जनसम्पर्क किया।सभी ने स्थानीय लोगों के साथ जगह जगह कार्यक्रम कर संवाद किया और मूलभूत समस्याओं को दूर करने स्थानीय लोगों की मांग पर जिला पंचायत सभापति ने मुहर भी लगाया। साथ ही निर्माण कार्यों का नेताओं ने भूमिपूजन भी किया।

कोरोना काल के बाद लाकडाउन खत्म होते ही नेताओं का भ्रमण कार्यक्रम शुरू हो गया है। इसी क्रम में जिला पंचायत सभापति ने मस्तूरी विधानसभा क्षेत्र के महमंद, धूमा, ढेका और मानिकपुर में आयोजित कार्यक्रम में शिरकत किया। इस दौरान स्थानीय पूर्व विधायक दिलीप लहरिया भी मौजूद रहे। जगह जगह आयोतित कार्यक्रम में अंकित गौरहा ने स्थानीय जनता से संवाद किया। गौरहा ने उपस्थित लोगों को राज्य सरकार की उपलब्धियों की जानकारी दी। सभापति ने बताया कि राज्य निर्माण के बाद पहली बार छत्तीसगढ़ के ग्रामीणों की सरकार बनी है जिसे गांव गरीब और किसानों की हमेशा चिंता रहती है और गाँव के विकास के लिए हम सभी को मिलकर प्रयास करना होगा। सभापति ने संवाद के दौरान ग्रामीणों को बताया कि मूलभूत सुविधाओं का निर्माण जिला पंचायत और राज्य सरकार की प्राथमिक जिम्मेदारियों में आता है। बावजूद इसके पिछले पन्द्रह सालों में भाजपा सरकार ने स्थानीय लोगों की मांग और सुविधायों को ना केवल नजर अंदाज किया है। बल्कि आम जनता के अधिकारों की रक्षा करने में भी लापरवाही की है।  सरकार बनने के बाद अब किसी को भी परेशान होने की जरूरत नहीं है। जनता का अधिकार जनता को मिल कर रहेगा। पूर्व विधायक लहरिया ने भी कार्यक्रम के दौरान ग्रामीणों को सम्मानित किया। साथ ही सभी प्रकार की समस्या निराकरण का आश्वासन दिया। लहरिया ने कहा कि जब से प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनी है। तब से गांव गरीब और किसानों का तेजी से विकास हो रहा है। मूलभूत समस्याओं का तेजी से निराकरण भी हुआ है।  दोनों नेताओं ने मानिकपुर में 9 लाख के निर्माण कार्यो का भूमिपूजन किया। इस दौरान अंकित गौरहा के अलावा पूर्व विधायक दिलीप लहरिया, संतोष दुबे, जनपद सदस्य नारद रजक,मनोज बंजारे,भुनेश धीरज, जितेंद्र सिंह ठाकुर विशेष रूप से मौजूद थे। ग्राम पंचायत धूमा में आयोजित कार्यक्रम में दोनो नेताओं के अलावा ग्राम सरपंच मोतीलाल खूंटे,ढेंका सरपंच दिनेश मौर्य, मानिकपुर सरपंच ताराचंद देवांगन,महमंद सरपंच प्रतिनिधि अनिल निषाद,सत्येंद्र शुक्ला, विवेक पटेल और स्थानीय लोगों विशेष रूप से मौजूद रहे।

error: Content is protected !!