किसानों के हित में मोदी सरकार का एक और महत्वपूर्ण निर्णय धान के समर्थन मूल्य में रु 72/- प्रति क्विंटल की हुई बढ़ोत्तरी : भाजपा

देश के किसानों की आय दोगुनी करने के लिए प्रतिबद्ध मोदी सरकार ने खरीफ विपणन वर्ष २०२१२२ के लिए धान के साथ ही साथ सभी खरीफ फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य  में वृद्धि कर मंजूरी दे दी है इसमें धान के न्यूनतम समर्थन मूल्य  में ₹72/प्रति क्विंटल की दर से बढ़ोत्तरी की गई है

रायपुर| भारतीय जनता पार्टी सहकारिता प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक शशिकांत द्विवेदी ने केन्द्र सरकार द्वारा धान के न्यूनतम समर्थन मूल्य में की गई 72/प्रति क्विंटल की बढ़ोत्तरी का स्वागत करते हुए कहा कि प्रधान मंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी किसानों के कल्याण के लिए हमेशा प्रतिबद्ध हैं।केन्द्र सरकार के इस फैसले से जहां धान कामन का न्यूनतम समर्थन मूल्य पिछले साल के मुकाबले ₹72/बढ़कर ₹ 1940/_ हो गया वहीं धान ग्रेड ए का न्यूनतम समर्थन मूल्य भी पिछले साल के मुकाबले रुपया72/बढ़कर खरीफ विपणन वर्ष2021_22 के लिए₹1960/ कर दिया गया है  पिछले साल यह राशि  धान कामन की ₹1868/_ और धान ग्रेड ए की  ₹1888/थी।

श्री द्विवेदी ने बताया कि वर्ष 2013_14में कांग्रेस शासन काल में धान का न्यूनतम समर्थन मूल्य जहां मात्र ₹1310/प्रति क्विंटल  था वहीं मोदी सरकार ने सात सालों में लगभग  ₹650/की बढ़ोत्तरी कर किसानों की  आय  दोगुनी करने की दिशा में निर्णायक पहल की है ।लेकिन भूपेश सरकार की गलत नीति के चलते  हजारों करोड़ रूपए का धान आज खरीदी केंद्रों में सड़ रहा है जिसकी कोई चिंता करने वाला नहीं है ।इसी प्रकार दलहन और तिलहन को भी बढ़ावा देते हुए  गत वर्ष की तुलना में लगभग ₹300/प्रति क्विंटल की बढ़ोत्तरी की गई है।इस प्रकार केन्द्र सरकार पिछले सात सालों से किसानों  के हित में फैसले ले रही है । और उनकी समस्याओं के समाधान के लिए हमेशा तैयार रहती है।श्री द्विवेदी  ने गत दिनों किसानों के हित में केंद्र सरकार द्वारा लिए गए निर्णय का ताजा उदाहरण देते हुए बताया कि  जैसे ही  ऊर्वरक उत्पादन कंपनियों ने कच्चे माल के दर में बढ़ोत्तरी हो जाने के कारण डी ए पी खाद में  बढ़ोत्तरी कर दी थी तत्काल प्रधान मंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी  ने संज्ञान में लेते हुए  खाद पर अतिरिक्त सब्सिडी बढ़ाकर किसानों के हित को सर्वोपरि मानते हुए डी ए पी खाद को पूर्ववत दर में बेचे जाने हेतु निर्देश जारी कर दिए।किंतु भूपेश सरकार  की उदासीनता के चलते  अभी भी कई सोसाइटियों में बढ़े हुए दाम ₹1900/_ में ही खाद की बिक्री हो रही है। द्विवेदी ने केन्द्र सरकार द्वारा  खरीफ विपणन वर्ष2021_22 के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाए जाने  का स्वागत करते हुए माननीय प्रधान मंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी एवम् कृषि मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर जी को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए आभार व्यक्त किया है।

 

error: Content is protected !!