पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह व भाजपा राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा हाईकोर्ट में लगाई याचिका, एफआईआर खत्म करने की मांग

०० भाजपा के दोनों नेताओं के खिलाफ रायपुर के सिविल लाइंस थाने में दर्ज कराई गई है एफआईआर

रायपुर| टूल किट विवाद में छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा हाईकोर्ट की शरण में पहुंच गए हैं। उन्होंने याचिका दायर कर उनके खिलाफ दर्ज एफआईआर को खत्म करने की मांग की है। याचिका में उन्होंने कहा कहा है कि उनके खिलाफ कोई केस नहीं बनता है। भाजपा के दोनों नेताओं के खिलाफ रायपुर के सिविल लाइंस थाने में 19 मई को एफआईआर दर्ज कराई गई थी फिलहाल याचिका पर सुनवाई की तारीख अभी तय नहीं है।

दोनों भाजपा नेताओं ने अधिवक्ता विवेक शर्मा के माध्यम से हाईकोर्ट में याचिका लगाई है। इसमें कहा गया है कि जिस टूल किट को लेकर अपराध दर्ज किया गया है, वह सार्वजनिक डोमेन में उपलब्ध था। याचिकाकर्ताओं ने पब्लिक डोमेन में मौजूद उस डिजिटल डॉक्यूमेंट पर टिप्पणी की है। ऐसे में उनके खिलाफ कोई अभियोग नहीं बनता है। अब इस मामले में रोस्टर के अनुसार इस याचिका पर सुनवाई जस्टिस नरेंद्र व्यास कर सकते हैं।गौरतलब है कि पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह ने 18 मई को अपने ट्विटर अकाउंट से कांग्रेस का कथित लेटर पोस्ट करते हुए दावा किया था कि इसमें देश का माहौल खराब करने की तैयारी की प्लानिंग लिखी है। साथ ही लिखा गया कि विदेशी मीडिया में देश को बदनाम करने दुष्प्रचार और जलती लाशों की फोटो दिखाने का कांग्रेस षड्यंत्र कर रही है। ऐसा ही पोस्ट संबित पात्रा ने भी किया था। इसके बाद युवा कांग्रेस के नेताओं ने रमन सिंह व संबित पात्रा पर एफआईआर दर्ज करा दी।

error: Content is protected !!