पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह वैक्सीनेशन के मामले में झूठे एवं फर्जी आकंड़े पेश कर राज्य सरकार पर आरोप लगा रहे : धनंजय सिंह ठाकुर 

राज्य में वैक्सिन वेस्टेज जीरो 18 प्लस वालो के लिए मिला था 7 लाख 97 हजार 110वैक्सीन डोज किफायती इस्तेमाल कर 2 हजार 722 लोगों को अतिरिक्त लगाया गया
 
100% फ्रंटलाइन हेल्थ वर्करों को लगा वैक्सिन का प्रथम डोज
रायपुर| भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह फर्जी एवं मनगढ़ंत आंकडा पेश कर राज्य सरकार पर वैक्सीनेशन के मामले में झूठे आरोप लगा रहे हैं प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार में वैक्सीनेशन कार्यक्रम बेहतर एवं प्रभावी ढंग से  चल रहा है। राज्य में 18 प्लस वालो के वैक्सीन वेस्टेज जीरो है।18 प्लस वालों के लिए 4 जून तक 797110वैक्सिंन के डोज मिला था जिसे 799832 लोगों को  लगाया गया है।18 प्लस वालो के लिए मिली वेक्सीन को किफायती तरीके से  लगाकर हेल्थवर्करो ने लगभग 2 हजार 722 लोगों को अतिरिक्त वैक्सीन लगाया है। राज्य में अब तक 70लाख 69हजार हितग्राहियों को वैक्सीन लगाया जा चुका है 2 अप्रैल को सर्वाधिक 3तीन लाख 26हजार हितग्रहियों को एवं 3 अप्रैल को 2 लाख 92हजार हितग्रहियों  को टीकाकरण किया गया था ।राज्य में 90% स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को प्रथम एवं 70% को दूसरी डोज लगाई जा चुकी है 45 वर्ष से अधिक के 77%नागरिकों को वैक्सिन के प्रथम डोज लग चुके है। 100 %,फ्रंटलाइन वर्करों को प्रथम डोज वैक्सीन लगाया जा चुका है। 45 साल वालों के लिए अभी राज्य में के पास 18लाख 46 हजार230 वैक्सीन डोज स्टॉक में है।
प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि मोदी सरकार वैक्सीनेशन के मामले में फेल हो चुकी है भाजपा शासित राज्यों में टीकाकरण बुरी तरह से प्रभावित है। मोदी जी के गृह राज्य गुजरात में मुर्दों को वैक्सीन लगाकर वैक्सीन घोटाला किया जा रहा है। हरियाणा के मुख्यमंत्री खट्टर आम जनता को वैक्सीन लगाने के बजाय मोदी सरकार की वैक्सिन सप्लाई में नाकामी को छिपाने वैक्सिन में राजनीति कर रहे हैं आम जनता को वैक्सीन लगाने दर-दर भटकना पड़ रहा है भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह को भाजपा शासित राज्यों के वैक्सीन के खराब स्थिति के बारे में आत्म चिंतन करना चाहिए। ठाकुर ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार ने 18 प्लस लोगों को वैक्सीन लगाने के लिए वैक्सीन निर्माता कंपनियों को ऑर्डर एवं अग्रिम भुगतान किये हैं लेकिन मोदी सरकार के नियंत्रण में वैक्सीन सप्लाई होने के कारण वैक्सीन कंपनी राज्य सरकार के आर्डर को आपूर्ति करने में असमर्थता जता रही है और देश के बाहर की कंपनियां राज्य सरकारों के साथ वैक्सीन खरीदी के डील करने से बच रही है वो केंद्र सरकार के साथ वैक्सिंन के खरीदी के मामले में डील करने के पक्षधर हैं भाजपा के नेता हवा हवाई बात कर दिसंबर तक देश में शत-प्रतिशत वैक्सीन लगाने की बात करते हैं वही वैक्सिन निर्माता कंपनी भाजपा नेताओं के बयान के विपरीत जाकर असमर्थता जताते हैं। भाजपा नेताओं को महामारी काल में झूठ फरेब की राजनीति करने के बजाए जनता के प्रति जागरूक और जिम्मेदार होना चाहिए ।वैक्सीन के स्थिति को आम जनता के सामने स्पष्ट रखना चाहिए। अब तक देश में कितना वैक्सिन बना है किन किन राज्य को कितना मिला है इसकी ऑडिट भी होनी चाहिए इससे देश के सामने वैक्सीन की स्थिति स्पष्ट होगी मोदी सरकार के गलतियों के कारण वैक्सीन किल्लत उतपन्न हुआ है शुरुआत में छह करोड़ 63 लाख वैक्सीन विदेश भेजा गया इसका दुष्परिणाम है आज  राज्यों को वैक्सिन के लिए जूझना पड़ रहा है 6 करोड़63 लाख वैक्सीन में से आधे वैक्सीन भी अगर छत्तीसगढ़ दे दिया जाता तो छत्तीसगढ़ के ढाई करोड़ जनता को अभी शत प्रतिशत वैक्सीन की प्रथम डोज लग जाती।भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रमन सिंह को वैक्सीन के मामले में झूठे एवं मनगढ़ंत आरोप लगाने के बजाय राज्य सरकार के द्वारा आर्डर की गई वैक्सिंन के सप्लाई करने के लिए मोदी सरकार से पत्राचार करना चाहिए दबाव बनाना चाहिए।
error: Content is protected !!