रेंजर की हत्या में शामिल नक्सली गिरफ्तार, नारायणपुर से भी 3 इनामी समेत 4 नक्सलियों को सुरक्षा बलों ने किया गिरफ्तार

रायपुर| बस्तर में सुरक्षाबलों को एक बार फिर बड़ी सफलता हाथ लगी है। पिछले चार दिनों में प्रदेश के अलग-अलग इलाकों से 7 नक्सलियों को गिरफ्तार किया गया है। अकेले शनिवार को ही 6 नक्सली बस्तर के अलग-अलग जिलों से गिरफ्तार किए गए हैं। इससे पहले जवानों ने बीजापुर जिले के जांगला थाना इलाके से नक्सली मड़काम साधु को गिरफ्तार किया। साधु पिछले साल हुई रेंजर की हत्या में शामिल था। पूरी कार्रवाई नक्सल विरोधी अभियान के तहत जिला बल और दरभा 4वीं वाहिनी सीएएफ ने की है।

शनिवार को अभियान के तहत जांगला थाना से जिला बल और दरभा 4वीं वाहिनी सीएएफ की एक संयुक्त टीम रवाना हुई थी। दोनों टीमें जैगुर, मेढ़पाल की ओर निकली थी। इसी दौरान मेढ़पाल के जंगलों से मड़काम साधु (30) को गिरफ्तार किया गया है। साधु जंगलों में आती टीम को देख भागने की फिराक में था, तभी जवानों ने उसका पीछा करके पकड़ लिया।साधु पिछले साल 11 सितंबर को जैगुर में रेंजर रथराम पटेल की हत्या में शामिल था। रथराम इंद्रावती टाइगर रिजर्व के भैरमगढ़ अभयारण्य में पदस्थ था। उस दौरान पुलिस ने साधु के खिलाफ केस दर्ज किया था और तभी से उसकी तलाश की जा रही थी।

दंतेवाड़ा में एक और नारायणपुर में बम विस्फोट में शामिल नक्सली पकड़े :- जवानों ने बस्तर के नारायणपुर में ही एक और कार्रवाई की, जिसमें 3 इनामी सहित 4 नक्सलियों को गिरफ्तार किया गया है। इसमें सोनारू आंचला, फागुराम आंचला, सोनू राम (10-10 हजार के इनामी) और मंगतुराम पोटाई शामिल है। ये सभी नक्सली ईरकभट्टी जनताना सरकार सदस्य हैं। इन नक्सलियों से 2 नग डेटोनेटर,1 बंडल बिजली वायर और अन्य सामान बरामद किया गया है। गिरफ्तार किए गए नक्सलियों पर 20 नवंबर 2019 को ईरकभट्टी और कोहकामेटा रोड़ निर्माण कार्य में लगे 3 ट्रैक्टर को आग लगाने का आरोप था। इसके अलावा 30 अक्टूबर 2020 को कोहकामेटा से ईरकभट्टी मार्ग में बम विस्फोट की घटना में भी ये शामिल थे। उस बम विस्फोट में ITBP एक जवान भी घायल हुआ था।

error: Content is protected !!