सहायक आरक्षक को नक्सलियों ने पहले गांव में दौड़ा-दौड़ाकर खूब पीटा, बाद में धारदार हथियार से की हत्या

रायपुर| सुकमा में नक्सलियों ने मंगलवार देर रात एक सहायक आरक्षक की बेरहमी से हत्या कर दी। पहले उसे डंडे से बुरी तरह से पीटा और फिर धारदार हथियार से उसका शरीर गोद दिया। इस दौरान जवान जान बचाने के लिए भागा भी, लेकिन नक्सलियों ने उसे घेरकर पकड़ लिया। जवान की पत्नी ने पुलिस को सूचना भी दी। इससे पहले कि पुलिस मौके पर पहुंचती, नक्सली उसे मारकर भाग चुके थे। घटना दोरनापाल क्षेत्र की है।

जानकारी के मुताबिक, पेंटा गांव के पुजारीपारा निवासी सहायक आरक्षक वेट्‌टी भीमा एसआईबी (स्पेशल इंवेस्टीगेशन ब्रांच) में पदस्थ था और उसकी ड्यूटी दोरनापाल थाने में थी। वह रात करीब 9 बजे घर में ही सो रहा था। इसी दौरान 5-6 नक्सली दरवाजा तोड़कर अंदर घुस आए और उसे जगाने लगे। इसी बीच वेट्‌टी भीमा खिड़की से कूदकर भागने लगा, लेकिन बाहर पहले से मौजूद नक्सलियों ने उसे घेरकर पकड़ लिया। इसके बाद जवान को नक्सली घर से कुछ दूरी पर एक पेड़ के नीचे लेकर पहुंचे। वहां डंडों से बुरी तरह पीटने के बाद धारदार हथियार से गोदकर हत्या कर दी। इस दौरान वेट्‌टी भीमा की पत्नी वेट्‌टी सेंगा ने घटना की सूचना पुलिस को दी। सूचना मिलने पर पुलिस के साथ ही सीआरपीएफ 150वीं बटालियन के जवान मौके पर पहुंच गए, लेकिन इससे पहले ही नक्सली उसे मारकर भाग चुके थे। पुलिस ने उसके शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है।

error: Content is protected !!