शराब पर सियासत शुरू, पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा “दवा के लिए लाइन और शराब ऑनलाइन, काश! राहुल गांधी को यहां की बदहाली दिखती”

०० कांग्रेस पार्टी ने किया पलटवार,  लिखा कहां छिप गए डॉक्टर रमन सिंह। आखिर आप लोग क्यों शराब की दुकानें खुलवाना चाहते हैं?

रायपुर| छत्तीसगढ़ में शराब की ऑनलाइन डिलीवरी को लेकर दोनों सियासी दल आमने-साने हो गए है, प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉक्टर रमन सिंह ने मंगलवार को इस मुद्दे पर एक सोशल मीडिया पोस्ट किया। उन्होंने राहुल गांधी को टैग करते हुए लिखा- राहुल गांधीजी, छत्तीसगढ़ भी इसी देश का हिस्सा है, काश आपको यहां की बदहाली और अव्यवस्था भी दिखती।

रमन सिंह ने अपने पोस्ट के अगले हिस्से में लिखा टेस्टिंग के लिए लाइन, अस्पताल के लिए लाइन, ऑक्सीजन के लिए लाइन, इंजेक्शन, दवाई के लिए लाइन, वैक्सीन के लिए लाइन। बस दारू ऑनलाइन। यही है कांग्रेस की पहचान। कांग्रेस पार्टी ने डॉक्टर रमन के सोशल मीडिया पोस्ट के सामने आने के बाद बनारस के जिला प्रशासन के एक आदेश को लेकर कहा कि इस आदेश में शराब दुकानें खोले जाने की बात लिखी है। कांग्रेस पार्टी की तरफ से सोशल मीडिया पर लिखा गया कि कहां छिप गए डॉक्टर रमन सिंह। क्या चाहते हैं कि जैसे नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र बनारस में आदेश जारी करवाकर शराब की दुकानें खोली गईं, वैसे छत्तीसगढ़ में भी खोली जाएं? आखिर आप लोग क्यों शराब की दुकानें खुलवाना चाहते हैं? गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ में सोमवार को शराब की ऑनलाइन बुकिंग का काम शुरू किया गया। आबकारी विभाग के अफसरों के मुताबिक लोगों ने सीएसएमसीएल पोर्टल पर ऑर्डर प्लेस करने शुरू किया तो एक घंटे में ही सर्वर डाउन हो गया लगभग 1 लाख लोगों ने रजिस्ट्रेशन कराया। इसमें 29 हजार से ज्यादा लोगों ने 4 करोड़ 32 लाख रुपए की शराब का ऑर्डर दिया। अधिकांश को सोमवार को शराब नहीं मिली अब मंगलवार को इन्हें डिलीवरी दी जा रही है। बहुत से लोगों ने सरकारी एप को भी बेकार बताया।

error: Content is protected !!