छत्तीसगढ़ में प्रति दस लाख की आबादी पर रोजाना 2116 सैंपलों की जांच, राष्ट्रीय स्तर पर इसका औसत 1349

००  प्रदेश में कोरोना जांच की संख्या लगातार बढ़ाई जा रही, 6 मई को सर्वाधिक 61,344 टेस्ट

०० पिछले एक सप्ताह में रोजाना औसतन 57 हजार से अधिक सैंपलों की जांचसप्ताह भर में जांचे गए करीब लाख सैंपल

०० प्रदेश में अब तक कुल 75.46 लाख सैंपलों की जांच

रायपुर| कोरोना संक्रमितों की पहचान के लिए प्रदेश में लगातार सैंपल जांच की संख्या बढ़ाई जा रही है। बीते मई को प्रदेश में सर्वाधिक 61 हजार 344 सैंपलों की जांच की गई है। प्रदेश में कोरोना संक्रमण की शुरूआत के बाद से यह एक दिन में जांचे गए सैंपलों की सर्वाधिक संख्या है। पिछले एक सप्ताह (30 अप्रैल से मई के बीच) के दौरान कुल तीन लाख 99 हजार 059 सैंपलों की जांच की गई है। इस दौरान प्रतिदिन औसतन 57 हजार आठ सैंपल जांचे गए हैं। अभी रोजाना करीब 40 प्रतिशत सैंपलों की आरटीपीसीआर जांच हो रही है। प्रदेश में कोरोना संक्रमण की शुरूआत के बाद से अब तक कुल 75 लाख 45 हजार 935 सैंपलों की जांच की गई है। इनमें से 28 लाख 15 हजार 701 सैंपलों की आरटीपीसीआर जांच और 47 लाख 30 हजार 234 सैंपलों की एंटीजन किट से जांच की गई है। 

प्रदेश में रोजाना प्रति दस लाख की आबादी पर कोरोना जांच की संख्या राष्ट्रीय औसत से काफी ज्यादा है। छत्तीसगढ़ में जहां प्रतिदिन प्रति दस लाख की जनसंख्या पर 2116 सैंपलों की जांच हो रही हैवहीं राष्ट्रीय स्तर पर इसका औसत 1349 है। कोरोना संक्रमण की शुरूआत के बाद से प्रति दस लाख की जनसंख्या पर सैंपल जांच के राष्ट्रीय और प्रदेश के औसत में भी बहुत अंतर है। इस दौरान प्रदेश में जहां प्रति दस लाख की आबादी पर दो लाख 62 हजार 712 सैंपलों की जांच की गई हैवहीं राष्ट्रीय स्तर पर दो लाख 24 हजार 024 सैंपल ही जांचे गए हैं। प्रदेश में अब कांकेर और महासमुंद में भी आरटीपीसीआर जांच की सुविधा शुरू होने से जांच की रफ्तार में और तेजी आई है। अब प्रदेश में नौ शासकीय वायरोलॉजी लैबों और 31 ट्रू-नाट लैबों के साथ ही उप स्वास्थ्य केंद्र स्तर पर रैपिड एंटीजन किट से कोरोना के संदिग्ध मरीजों की जांच की जा रही है। प्रदेश के नौ और जिला मुख्यालयों में वॉयरोलॉजी लैब शुरू करने की तैयारी चल रही है। बीते सप्ताह 30 अप्रैल को 59 हजार 436, 1 मई को 60 हजार 863, 2 मई को 42 हजार 032, 3 मई को 58 हजार 493, 4 मई को 57 हजार 034, 5 मई को 59 हजार 857 और मई को 61 हजार 344 सैंपलों की जांच की गई है।

error: Content is protected !!