कोरोना से मौतों पर संसदीय सचिव विकास उपाध्याय ने केंद्र सरकार को ठहराया जिम्मेदार, हत्या का मामला चलाने की मांग

रायपुर| कोरोना से देश भर में हो रही मौतों पर कांग्रेस भड़की हुई है। उसके नेता इन मौतों के लिए केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। छत्तीसगढ़ के संसदीय सचिव विकास उपाध्याय ने तो केंद्र सरकार के खिलाफ हत्या का मामला चलाने की मांग तक कर डाली है। विकास उपाध्याय ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सार्वजनिक मंचों पर चिल्ला-चिल्ला कर ये बोलते नहीं थकते थे कि उनके जैसे चौकीदार के रहते भारत की रखवाली करने में कोई चूक नहीं होगी। उसी चौकीदार की चौकीदारी के चलते रोज निर्दोष लोग मारे जा रहे हैं और देश का चौकीदार कुछ नहीं कर पा रहा है।

कोरोना से हर क्षेत्र से जुड़ा व्यक्ति चाहे पत्रकार हो समाजसेवी, डॉक्टर, आम नागरिक हर एक वर्ग में से रोज मौत हो रही है, इन मौतों से भड़के विकास उपाध्याय ने कहा, ऐसी निकम्मी केन्द्र सरकार के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज होना चाहिए। विकास उपाध्याय ने कहा, आत्मनिर्भर भारत के नाम पर ढिंढोरा पीटने वाला चौकीदार विश्व के अन्य देशों के सामने मदद के लिए गुहार लगा रहा है। एक समय वो था जब युपीए के शासनकाल में तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने सुनामी के संकट के वक्त कहा था, हमें लगता है कि हम खुद ही हालात को संभाल लेंगे। उन्होंने विदेशी मदद लेने से इन्कार कर दिया था। विकास उपाध्याय ने कहा, सोचने वाली बात यह है कि भारत तब आत्मनिर्भर था कि अब है? उन्होंने आत्मनिर्भरता के सरकारी दावे को जनता के साथ धोखा बताया है। विकास उपाध्याय ने कहा, पिछले पांच दिनों में विदेशों से 300 टन कोविड आपातकालीन राहत सामग्री भारत पहुंची है। इसमें 5 हजार 500 ऑक्सीजन कॉन्संट्रेटर्स, 3 हजार 200 ऑक्सीजन सिलेंडर, 1 लाख 36 हजार रेमेडिसिवर इंजेक्शन शामिल हैं। इससे लोगों की जान बचाई जा सकती है पर मोदी सरकार की लचर व्यवस्था की वजह से ये मदद कुछ किलोमीटर की दूरी तक भी नहीं पहुंच पा रही है। यहां तक कि मदद करने वाले अमेरिका को पूछना पड़ रहा है कि इस सामग्री का भारत ने क्या किया।

error: Content is protected !!