ऐसे संकट के समय में रैली करना घृणित राजनीति है : कांग्रेस

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के उपाध्यक्ष शिवरतन शर्मा के बयान पर पलटवार करते हुए प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता सुरेंद्र शर्मा ने कहा कि इस आसंन्न संकट में लोगों का मनोबल बढ़ाने की जगह सरकार की आलोचना से बढ़कर घृणित राजनीति और क्या हो सकती है? राष्ट्रीय आपदा केंद्र का विषय होता है श्री शर्मा को छत्तीसगढ़ सरकार पर तोहमत लगाने की जगह केंद्र की मोदी सरकार से पूछना चाहिए कि पिछले एक साल में उन्होंने क्या तैयारी की अगर पूरे देश मे वेंटिलेटर,आक्सीजन,दवाई , वेक्सीन की आपूर्ति सही नहीं है तो उसके लिए कौन जिम्मेदार है,वेक्सीन कब और किसे लगेगा यह केंद्र सरकार तय करती है।छत्तीसगढ़ सरकार ने तो लक्ष्य से अधिक वेक्सिनेशन की क्षमता प्राप्त कर लिया है।

शराब का पैसा असम में खर्च करने के आरोप का जवाब देते हुए सुरेंद्र शर्मा ने कहा क्या पी एम केयर फंड का पैसा बंगाल में खर्च किया जा रहा है?जहां प्रधान मंत्री और गृह मंत्री लोगो की जिंदगी संकट में डालकर रैलियां करने में ब्यस्त है। उन्हें मोदी जी से पूछना चाहिए कि क्या वे प्रचारक की भूमिका को किनारे कर प्रधान मंत्री की भूमिका भी निभाएंगे,छत्तीसगढ़ के साथ मध्यप्रदेश,उत्तर प्रदेश और पूरा देश कॅरोना की चपेट में है लोग भयभीत है ऐसी स्थिति में भी राजनीति का चस्का को घृणित राजनीति कहते हैं। सुरेंद्र शर्मा ने आगे कहा कि छत्तीसगढ़ में हालात सुधर रहे है स्वस्थ होने वालों की संख्या बढ़ रही है,संक्रमण की संख्या घट रही है शासन प्रशासन और चिकित्सा से जुड़े लोग रातदिन मेहनत और समर्पण से लोगों की जान बचाने में लगे है आज उनका मनोबल बढ़ाया जाना चाहिए,डरे हुए लोगों को सम्बल देना चाहिए। देश देख रहा है किसकी क्या भूमिका है वह आने वाले समय मे फैसला करेगा अभी तो कॅरोना को मात देकर मनुष्यता को विजयी बनाना ही लक्ष्य होना चाहिए।

error: Content is protected !!