इंडियन जर्नलिस्ट्स फेडरेशन प्रदेश अध्यक्ष ने पत्रकारों की सहायता के लिए सरकार से की अपील

00 कोरोना काल में पत्रकारों का निधन हुआ उनके परिवार की आर्थिक सहयता करे
रायपुर। इंडियन जर्नलिस्ट्स फेडरेशन के छत्तीसगढ़ प्रदेश अध्यक्ष शरनजीत सिंह तेतरी ने सरकार से सहायता के लिए अपील किया है जिसमें पत्रकार बन्धुयो की सहयताकोरोना काल में पत्रकारों का निधन हुआ तो उनके परिवार की आर्थिक सहयता बेहद दुखद है बिलासपुर के युवा पत्रकार अंकित बाजपेयी का जाना अभी दिन पहले ही बिलासपुर के पत्रकार प्रदीप आर्य के निधन का दुख कम नहीं हो पाया है और कोरोना ने एक पत्रकार को और हमसे छीन लिया। बहुत सावधानी और चिकित्सा व्यवस्था में ब्यापक बदलाव की जरूरत है।
तेतरी ने आगे कहा कि पत्रकार प्रदीप आर्य की मौत आरबीएस हॉस्पिटल प्रबंधन की लापरवाही के चलते हुई है जो अत्यंत दुखद है। साथ ही हॉस्पिटल प्रबंधन पर मर्डर केस दर्ज होने चाहिए। प्रदेश सरकार से संगठन ने मांग किया कि मृत पत्रकारों के परिजनों को दुर्ग के पत्रकार की मौत पर आर्थिक मदद की गई। उसी आधार पर बिलासपुर के भी मृत पत्रकारों के परिजनों को आर्थिक मदद करे। उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि और उनके परिवार के लिए परमात्मा से प्रार्थना है कि इस आघात को सहन करने की शक्ति प्रदान करें। छत्तीसगढ़ में आयुष्मान कार्ड स्वास्थ्य सुरक्षा के लिए सभी के लिए बनने आरंभ हो गए हैं जिसमें इलाज के दौरान काफी सुविधा मिलती है। इस अवसर पर अध्यक्ष शरणजीत सिंह तेतरी ने सभी पत्रकारों से अपील की है कि अपना अपना पूरे परिवार सहित आयुष्मान कार्ड जरूर बनवाएं। आयुष्मान कार्ड की जानकारी देते हुए शरनजीत सिंग तेतरी ने बताया कि उनकी छत्तीसगढ़ के विभिन्न जिलों के कई पत्रकार साथियों से अनौपचारिक बातचीत हुई। जिसमे पत्रकार साथियों ने बताया कि उन्होने आयुष्मान कार्ड नहीं बनवाया है। जबकि पत्रकार साथी पर कोई संकट आता है तो उसको आर्थिक रूप से दिक्कत होती है। ऐसे में आयुष्मान कार्ड बहुत मदद करेगा। इसलिए सभी पत्रकार बंधु समय निकालकर पूरे परिवार सहित अपना आयुष्मान कार्ड जरूर बनवाएं। आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए अपना राशन कार्डआधार कार्ड और फोटो की जरूरत पड़ती है। इस योजना में पांच लाख रुपए तक का इलाज फ्री किया जाता है। शरणजीत सिंह तेतरी ने सभी पत्रकारों से अपील की है कि अपने और परिवार की सुरक्षा और स्वास्थ्य लाभ के लिए आयुष्मान कार्ड जरूर बनवाएं। इसके लिए अपने पार्षदग्राम सचिवनिकटतम लोक सेवा केन्द्र आदि जिम्मेदार अधिकारियों से संपर्क कर सकते हैं।

error: Content is protected !!