स्वास्थ्य विभाग के प्रवक्ता व संयुक्त संचालक डॉक्टर सुभाष पाण्डेय का कोरोना से निधन, शहीद का दर्जा देने की मांग उठी

०० कांग्रेस के प्रदेश सचिव और प्रवक्ता विकास तिवारी ने उठाई डॉ. सुभाष पाण्डेय को शहीद का दर्जा देने की मांग

रायपुर| स्वास्थ्य विभाग के प्रवक्ता और रायपुर में संयुक्त संचालक डॉक्टर सुभाष पाण्डेय का कोरोना से निधन हो गया। शिशु रोग विशेषज्ञ के रूप में अपनी सेवाएं शुरू करने वाले डॉक्टर पाण्डेय, 2020 में भी कोरोना से संक्रमित हुये थे। उस समय उन्होंने महामारी को मात देकर वापसी की। दुर्भाग्य से इस बार ऐसा नहीं हो पाया और वायरस से लड़ते हुए उनका निधन हो गया। अब राजनीतिक-सामाजिक हलकों में उन्हें शहीद का दर्जा देने की मांग उठ रही है।

बताया जा रहा है कि ड्यूटी के दौरान शुक्रवार को ही उन्हें बुखार महसूस हुआ था। उसके बाद जांच हुई। शनिवार और रविवार को होम आइसोलेशन में उनका इलाज चला। दिक्कत बढ़ने पर सोमवार को उन्हें रायपुर एम्स में भर्ती कराया गया। स्थिति नहीं सुधरी तो मंगलवार देर रात उन्हें आईसीयु में ले जाया गया। एम्स के डॉक्टरों की तमाम कोशिशों के बावजूद उनको बचाया नहीं जा सका। पिछले वर्ष जुलाई में भी वे कोरोना संक्रमण की चपेट में आये थे। 10 दिन इलाज के बाद वे स्वस्थ हो गये और काम पर वापस लौट आये थे। अक्टूबर 2020 में उन्हें स्वास्थ्य विभाग का प्रवक्ता बनाया गया था। कोरोना संक्रमण, ठीक होने वालों की संख्या और कोरोना से हो रही मौतों से जुड़े सरकारी आंकड़ों को मीडिया को देने की जिम्मेदारी उन्हीं के पास थी। अधिकारियों ने बताया, डॉक्टर पाण्डेय इसी वर्ष सेवा से रिटायर होने वाले थे। उनके परिवार में पत्नी, बेटी सहित कई डॉक्टर हैं। स्वतंत्रता संग्राम सेनानी जयनारायण पाण्डेय के पुत्र डॉक्टर सुभाष पाण्डेय करीब 15 वर्षों तक राज्य के टीकाकरण अधिकारी रहे थे। बाद में उन्हें दुर्ग का मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी बनाकर भेजा गया। वहां से उन्हें रायपुर में स्वास्थ्य विभाग का संभागीय संयुक्त संचालक बनाया गया। प्रदेश में 16 जनवरी से कोरोना टीकाकरण अभियान शुरू हुआ। डॉ. सुभाष पाण्डेय उन अधिकारियों में से थे जिन्होंने पहले दिन ही यह टीका लगवाया था।

शहीद का दर्जा देने की मांग :_- कांग्रेस के प्रदेश सचिव और प्रवक्ता विकास तिवारी ने डॉ. सुभाष पाण्डेय को शहीद का दर्जा देने की मांग उठाई है। विकास ने कहा, “डॉ. सुभाष पांडेय बेहद मिलनसार और सहयोगी भाव के व्यक्ति थे। अपने कर्तव्यपरायणता के चलते उनकी मृत्यु हुई है।मै मुख्यमंत्री जी से स्वर्गीय डॉ. सुभाष पांडे जी को “शहीद”दर्जा देने हेतु निवेदन करता हूं।” कांग्रेस चिकित्सा विभाग के प्रमुख और छत्तीसगढ़ हास्पिटल बोर्ड के अध्यक्ष डॉ. राकेश गुप्ता ने भी डॉ. पाण्डेय को श्रद्धांजलि दी है।

error: Content is protected !!