सरकार का दावा रेमडेसिविर की 9100 डोज अस्पतालों को भेजी, कांग्रेस प्रवक्ता ने जारी की 4800 डोज की सूची

रायपुर। छत्तीसगढ़ में लगातार बढ़ते कोरोना संक्रमण के बाद प्रदेश में रेमडेसिविर इंजेक्शन की कमीं हो रही है। इसी बीच राज्य सरकार ने इंजेक्शन के 9100 डोज विभिन्न अस्पतालों को भेजे जाने का दावा किया हैलेकिन कांग्रेस प्रवक्ता के पोस्ट ने सरकार के दावों पर सवाल उठा दिया है।

कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी ने सोशल मीडिया में रेमडेसिविर इंजेक्शन के स्टॉकिस्ट की एक सूची पोस्ट की हैजिसमें प्रदेश में इंजेक्शन की स्टॉकिस्टों के पास कुल 4800 डोज होने की पुष्टि हो रही है। विकास तिवारी ने यह पोस्ट कांग्रेस के ऑफिशियल मीडिया व्हाट्सएप ग्रुप में शेयर की है। प्रदेश में रेमडेसिविर इंजेक्शन के कमीं को लेकर मिडिया ने प्रमुखता से खबरे प्रकाशित की थीजिसके बाद सरकार की ओर से 9100 डोज प्रदेश के अस्पतालों को भेजे जाने का दावा किया गया था। खबर में वीएनएस ने यह भी प्रकाशित किया था कि प्रदेश के स्टॉकिस्टों के पार इंजेक्शन तो हैलेकिन औषधि निरीक्षकों की अनुमति के बगैर इंजेक्शन किसी को भी नहीं दिया जा सकता। बता दें कि प्रदेश की राजधानी में कोरोना संक्रमित मरीजों के परिजन रेमडेसिविर इंजेक्शन की तलाश में दर-दर भटक रहे हैं। अस्पताल प्रबंधन परिजनों को इंजेक्शन नहीं होने की बात कह रहे हैं। साथ ही यदि सरकार दावे कर रही है कि इंजेक्शन की मात्रा अस्पतालों में भेज दी गई है तो इंजेक्शन की कीमत भी सरकार को तय करने की आवश्यकता हैक्योंकि अस्पताल प्रबंधन इंजेक्शन की कीमत खुदरा मूल्य के अनुसार वसूलेंगेजबकि इंजेक्शन का थोक मूल्य आधे से भी कम है।

error: Content is protected !!