कोरोना से बचाव के लिए छत्तीसगढ़ में अब तक 44.73 लाख से अधिक टीके लगाए गए

०० 4.32 लाख लोगों को दी जा चुकी है टीके की पहली और दूसरी खुराक

०० 88 प्रतिशत स्वास्थ्य कर्मियों, 85 प्रतिशत फ्रंटलाइन वर्कर्स और 45 वर्ष से अधिक के 60 प्रतिशत लोगों को लग चुका है पहला टीका

रायपुर| छत्तीसगढ़ में कोरोना से बचाव के लिए अब तक (12 अप्रैल तक) 44 लाख 73 हजार 200 टीके लगाए जा चुके हैं। प्रदेश के चार लाख 31 हजार 888 लोगों को टीके की दोनों खुराक दी जा चुकी हैं। इनमें एक लाख 96 हजार 601 स्वास्थ्य कर्मीएक लाख 40 हजार 358 फ्रंटलाइन वर्कर्स और 45 वर्ष से अधिक उम्र के 94 हजार 929 लोग शामिल हैं। कोरोना टीकाकरण की राज्य नोडल अधिकारी डॉ. प्रियंका शुक्ला ने बताया कि प्रदेश के 88 प्रतिशत स्वास्थ्य कर्मियों, 85 प्रतिशत फ्रंटलाइन वर्कर्स और 45 वर्ष से अधिक के 60 प्रतिशत लोगों को कोरोना से बचाव का पहला टीका लगाया जा चुका है। वहीं 58 प्रतिशत स्वास्थ्य कर्मियों और 48 प्रतिशत फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीके का दूसरा डोज भी दिया जा चुका है।

प्रदेश में अब तक 45 वर्ष से अधिक उम्र के 34 लाख 98 हजार 378 लोगों को कोरोना से बचाव का पहला टीका लगाया जा चुका है। इनमें से 94 हजार 929 ने इसकी दूसरी खुराक भी ले ली है। प्रदेश भर में इस आयु वर्ग के कुल 58 लाख 66 हजार 599 लोगों के टीकाकरण का लक्ष्य है। प्रदेश के दो लाख 96 हजार 794 स्वास्थ्य कर्मियों और दो लाख 46 हजार 140 फ्रंटलाइन वर्कर्स को कोरोना से बचाव का पहला टीका लगाया जा चुका है। इन दोनों श्रेणियों में लक्षित क्रमशः 88 प्रतिशत और 85 प्रतिशत कार्मिकों को पहली खुराक दी जा चुकी है। प्रदेश में शासकीय व निजी क्षेत्र के कुल तीन लाख 38 हजार 844 स्वास्थ्य कर्मियों और दो लाख 90 हजार 720 फ्रंटलाइन वर्कर्स के टीकाकरण का लक्ष्य है।

error: Content is protected !!