प्रदेश सरकार कोरोना के नियंत्रण में विफल : भाजपा

०० दवा सहित आवश्यक वस्तुओं के कालाबाजारी पर हो अंकुश लगाया जाये

०० निजी अस्पतालों में तय हो उपचार की दरें

रायपुर। प्रदेश में अनियंत्रित होते कोरोना पर नियंत्रण को लेकर भारतीय जनता पार्टी के एक प्रतिनिधि मंडल ने नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक के नेतृत्व में मुख्य सचिव अभिताभ जैन से मुलाकात कर  कई महत्वपूर्ण सुझाव दिये। प्रतिनिधि मंडल में सांसद सुनील सोनी, पूर्व मंत्री व वरिष्ठ विधायक बृजमोहन अग्रवाल, अजय चंद्राकर शामिल थे। प्रतिनिधि मंडल ने नवा रायपुर मंत्रालय में मुलाकात कर प्रदेश में कोरोना के बढ़ते मामलों पर चिंता व्यक्त करते आवश्यक कार्रवाई हेतु कई सुझाव दिये। प्रतिनिधि मंडल ने कहा कि पूरे प्रदेश कोरोना  पर अंकुश  लगाने को  लेकर जो तैयारी पूर्व में होनी थी, वह कहीं नहीं दिखती है जिसके कारण ही स्थिति चिंताजनक बनी हुई है। अस्पतालों मे बिस्तरों की समस्या है। वेटिलेंटर व ऑक्सीजन सिलेंडर की कमी की पूर्ति तत्काल की जानी चाहिये। जो सरकारी व निजी भवनों में आवश्यकतानुसार अस्थायी अस्पताल बनाये जाने का सुझाव दिया। इसके साथ ही बाजार में दवा मंहगे दर पर बेचे जाने की शिकायत लगातार मिल रही है। साथ ही दैनिक जीवन के उपयोग के वस्तुओं  की कालाबाजारी पर अंकुश लागने के दिशा में ठोस कार्रवाई की ज़रूरत है। पूरे प्रदेश में कोरोना के उपचार के नाम पर निजी अस्पतालों में अतिरिक्त राशि ली जा रही है। इसकी एक निर्धारित दर तय की जाये। इस पर तत्काल ही जल्द ही कार्रवाई होनी चाहिये।  निजी अस्पतालों में नियंत्रण के लिये एक  शीघ्र कमेटी बनाने की जरूरत है। भाजपा प्रतिनिधि मंडल से मुख्य सचिव जैन ने जल्द ठोस कार्रवाई का भरोसा दिया है।

error: Content is protected !!