कांग्रेस ही बताएं, ये रिश्ता क्या कहलाता है : संजय श्रीवास्तव

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने कांग्रेस महिला मोर्चा की प्रदेश प्रभारी व विधायक पूर्व नक्सली सीतक्का के सोशल मीडिया पर अपने नक्सली होने का सबूत दे रही हैं। इससे वह भयदोहन की कोशिश कर रही हैं। उन्हें लोकतंत्र पर जरा भी विश्वास है तो अपने गैर लोकतांत्रिक जीवन का जिक्र नहीं करना चाहिये। यह स्वस्थ लोकतंत्र के लिये ठीक नहीं है।

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता श्रीवास्तव ने कहा कि देश में नक्लसवाद की शुरुआत से ही कांग्रेस का हाथ नक्सलियों के साथ रहा है। नक्सलियों के प्रति कभी कांग्रेस का प्रेम छिपा नहीं है। समय-समय पर कांग्रेस के नेता चुनाव जीतने के लिये नक्सलियों से मदद की गुहार करते रहे हैं तो किसी ने नक्सलियों को  देशप्रेमी और भटका हुआ क्रांतिकारी तक बताया है। श्री श्रीवास्तव ने मांग की कि उक्त पूर्व नक्सली  के सोशल मीडिया के एंकाउट के बारे में सफाई देना चाहिए। कांग्रेस को बताना चाहिए कि ये रिश्ता क्या कहलाता है? जिस तरह नक्सली भय के नाम पर भयदोहन किया जा रहा है, इसकी क़िरदार सीतक्का भी है। श्री श्रीवास्तव ने कहा कि हम हमेशा  नक्सलियों के हिंसा का रास्ता छोड़कर लोकतंत्र में विश्वास रखने की अपील करते हैं और नक्सलियों को समाज की मुख्यधारा से जुड़ना चाहिये। लेकिन इसका मतलब यह तो नहीं कि अतीत को वर्तमान का हिस्सा बनाकर डर पैदा किया जाये। भाजपा प्रवक्ता श्री श्रीवास्तव ने कहा कि पूर्व नक्सली के इस कृत्य के लिए कांग्रेस को सबसे माफी मांगना चाहिये और देश विरोधी ताकतों से अपने  संबंधों के बारे में स्थिति स्पष्ट करनी चाहिये।

error: Content is protected !!