रायपुर जिले के प्रभारी मंत्री चौबे एवं स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने कोरोना संक्रमण की रोकथाम हेतु ली बैठक

०० टेस्टिंग, अस्पतालों में बिस्तरों की उपलब्धता में तेजी लाने के दिए निर्देश
०० स्वास्थ्य विभाग, जिला एवं पुलिस प्रशासन द्वारा किए जा रहे उपायों की समीक्षा
कोविड अप्रोप्रियेट बिहेवियर का हो पालन

रायपुर| रायपुर जिले के प्रभारी मंत्री श्री रविंद्र चौबे एवं स्वास्थ्य मंत्री श्री टी एस सिंहदेव ने आज यहां सिविल लाइन स्थित न्यू सर्किट हाउस के सभाकक्ष में कोरोना संक्रमण की रोकथाम हेतु राज्य शासन के वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक ली तथा स्वास्थ्य विभाग, जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन तथा अन्य संबंधित विभागों द्वारा किए जा रहे कार्यों की समीक्षा भी की। स्वास्थ्य मंत्री श्री सिंहदेव ने कहा कि पूरे देश सहित अपने प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं। विभाग ने गत वर्ष भी इस पर काबू पाने के सभी उपाय किए थे और सफल भी हुए थे। अब फिर उन्ही गाइडलाइन्स का कड़ाई से पालन करने की जरूरत है,  विशेष कर रायपुर, दुर्ग और बेमेतरा जिले में जहां  पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़ रही है।  इसे रोकने के लिए टेस्टिंग बढाने ,कान्टेक्ट ट्रेसिंग बढ़ाने के निर्देश दिए। उन्होने कहा कि रायपुर जिले में मरीजों को अधिक आक्सीजीनेटेड बेड की उपलब्धता भी सुनिश्चित की जाए। उन्होंने कलेक्टर से जिले में इस हेतु किए जा रहे कार्यों की जानकारी भी ली। साथ ही होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों की समुचित मानिटरिंग की जाए और समय पर उन्हे दवाई मिल जाए, यह भी आवश्यक है। उन्होंने कहा कि अभी टीकाकरण का कार्य अच्छा हो रहा है और सरकारी केन्द्रों  में सेशन साइट संचलित करने के संबंध में राज्य का स्थान देश में चौथा है। टीकाकरण के साथ ही लोगों को यह भी समझाना होगा कि वैक्सीन की एक डोज या दोनों डोज लगने के बाद भी मास्क लगाना और अन्य कोरोना अनुकूल व्यवहार का पालन करना अनिवार्य है अन्यथा वैक्सीनेटेड व्यक्ति को भी संक्रमण हो सकता है, भले ही उसकी तीव्रता बहुत ज्यादा न हो, और वह दूसरों को संक्रमित भी कर सकता है।
कृषि मंत्री एवं रायपुर जिले के प्रभारी मंत्री श्री रविंद्र चौबे ने सभी विभागीय अधिकारियों को कठिन परिस्थिति में समर्पित भाव से कार्य करने  के लिए  सराहना की।उन्होंने कहा कि परिस्थिति अनुरूप जिले के कलेक्टर डीएमएफ एवं सीएसआर मद की राशि का उपयोग कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि कंटेनमेंट जोन में नियमों का अधिक कड़ाई से पालन हो और नियमित रूप से पुलिस की पेट्रोलिंग हो। बिना मास्क के सार्वजनिक स्थलों में आने वाले लोगों से चालान काट कर फाइन वसूली जाए। बैठक में होम आइसोलेशन की मॉनिटरिंग की व्यवस्था,मुख्यमंत्री द्वारा कोरोना संक्रमण की प्रचार की रोकथाम के लिए परिस्थिति अनुरूप कलेक्टर को लॉकडाउन के संबंध में निर्णय लेने केिि नर्देश, दिए गए। मोबाइल मेडिकल यूनिट के माध्यम से टीकाकरण ,टारगेट ग्रुप को वैक्सीन लगाने, मानव संसाधन की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित करने, रायपुर जिले में अन्य जिलों का भी दबाव, भीड़भाड़ एवं बाजार को कैसे नियंत्रित किया जाए, कोविड-एप्रोप्रियेट बिहेवियर, प्रशासन एवं पुलिस द्वारा सख्ती बरतने की जरूरत, एनजीओ की मदद लेने, टेस्ट किट एवं टीका के लिए वैक्सीनेशन की उपलब्धता, ग्रामीण अंचल की स्थिति अस्पतालों में आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित करने सहित अन्य महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा करते हुए आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए। रायपुर नगर निगम के महापौर श्री एजाज ढेबर ने टीकाकरण पर ज्यादा ध्यान देने की आवश्यकता बताई। उन्होंने कहा कि सभी टीकाकरण केंद्रों में टारगेट पूरे होने चाहिए।  बैठक में अपर मुख्य सचिव श्रीमती रेणु जी पिल्ले ने बताया कि विभाग द्वारा कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए पूरे प्रयास किए जा रहे हैं। जांच की संख्या बढाने और कान्टेक्ट ट्रेसिंग बढ़ाने के लिए जिलों को निर्देश दिए गए है। इसके अलावा होम आइसोलेशन की व्यवस्था को ओैर मजबूत करने को कहा गया है। सभी जिलों में कोविड अनुकूल व्यवहार के पालन पर और ध्यान देना होगा। रष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की संचालक डॉ प्रियंका शुक्ला स्वास्थ्य ने प्रदेश के अस्पतालों, कोविड केयर सेंटर में उपलब्ध बेड की जानकारी दी। उन्होने बताया कि राज्य के डेडिकेटेड कोविड 33 अस्पतालों में कुल 4051 बेड हैं जिसमें 1341 आक्सीजीनेटेड, 438 एच डीयू और 440 आई सीयू बेड हैं। 65 कोविड केयर सेंटर में 8780 कुल बेेड में 1087  आक्सीजीनेटेड बेड हैं। इसके अलावा 78 निजी अस्पतालों में 3134 बेड हैं 1052  आक्सीजीनेटेड, 450 एच डीयू और 720 आई सीयू बेड हैं जिसे और बढ़ाया जा रहा है। बैठक में स्वास्थ्य विभाग की सचिव श्रीमती शहला निगार, विशेष सचिव डॉ. सी आर प्रसन्ना, संचालक स्वास्थ्य सेवाएं श्री नीरज बंसोड ने अपने-अपने वर्टीकल के कार्यों की जानकारी दी। कलेक्टर डॉ एस भारतीदासन ने जिला प्रशासन द्वारा किए जा रही सभी गतिविधियों के बारे में अवगत कराया। उन्होंने बताया कि आइसोलेशन एवं कोविड केयर सेंटर बनाने हेतु 5 भवन अधिग्रहित  किए गए है। जिसमें नया रायपुर के पं दीनदयाल उपाध्याय स्मृति स्वास्थ्य विज्ञान एवं आयुष विश्वविद्यालय भवन, स्टेट इंस्टीट्यूट आफ हेल्थ होटल मैनेजमेंट सेक्टर 40, नया रायपुर, वर्किंग विमेन हॉस्टल वीआईपी रोड फुडहर, प्रयास बालिका छात्रावास, गुढ़ियारी और प्रयास बालक छात्रावास सडडु शामिल हैं। इनसे जिले में ऑक्सीजीनेटेड बेड की संख्या भी बढ़ेगी। उन्होंने बताया कि अभी तक जिले मंे 28 कंटेनमेंट जोन बन चुके हैं। कार्यों की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए कर्मचारी अधिकारियों की ड्यूटी लगाई जा चुकी है। जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ. गौरव कुमार सिंह ने गांव एवं ग्रामीणों की अद्यतन स्थिति से अवगत कराया।

 

error: Content is protected !!