रमन सरकार ने अपने वादे नहीं निभाये, कांग्रेस सरकार काम कर रही है तो हो रही है पीड़ा : कांग्रेस

रमन के ट्वीट पर कांग्रेस की प्रतिक्रिया, पीसीसी संचार प्रमुख शैलेष नितिन त्रिवेदी का बयान 

रमन सिंह के आरोप गलत झूठे और निराधारवादाखिलाफ़ी तो भाजपा सरकार की फ़ितरत है 

15 वर्षो की भाजपा की वादाखिलाफी ने ही तो भाजपा को 15 सीटों तक पहुंचाया

रायपुर। पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह के ट्वीट पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि कांग्रेस पर वादा खिलाफी का आरोप झूठ और गलत है। वादाखिलाफी तो भाजपा ने लगातार छत्तीसगढ़ और देश में मतदाताओं के साथ की है। रमन के ट्वीट पर कांग्रेस की प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुये पीसीसी संचार प्रमुख शैलेष नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह के आरोप गलत झूठे और निराधार हैं। वादाखिलाफ़ी तो बीजेपी सरकार की फ़ितरत है । बीजेपी की वादाखिलाफ़ी ने ही उन्हें छत्तीसगढ़ में 15 सीटों तक पहुँचाया। रमन सरकार ने अपने वादे नहीं निभाये और कांग्रेस सरकार काम कर रही है तो पीड़ा हो रही है। 2003, 2008 और 2013 के चुनाव में भाजपा ने संकल्प पत्र और घोषणा पत्र के द्वारा छत्तीसगढ़ प्रदेश की जनता के साथ धोखाधड़ी ही तो की थी। छत्तीसगढ़ के किसानों को रमन सिंह बताये कि 2100 रू समर्थन मूल्य, 5 साल तक 300 रू बोनस, एक-एक दाना धान की खरीद का क्या हुआ था? भाजपा से 5 हॉर्स पावर पंप के मुफ्त बिजली कनेक्शन का हिसाब किसानों को भाजपा को देना चाहिये था। हर आदिवासी परिवार को 10 लीटर दूध देने वाली जर्सी गाय और हर आदिवासी परिवार से एक-एक सदस्य को सरकारी नौकरी क्या रमन सिंह जी ने दी। रमन सिंह जी की वादाखिलाफी को बताते हुए भाजपा की केंद्र सरकार की वादाखिलाफी याद दिलाना चाहेंगे क्या हुआ हर साल 2 करोड़ रोजगार के अवसरों का? 15 लाख हर व्यक्ति के खाते में आने वाले थे क्या हुआ? किसानों की आय 2022 तक दुगनी करने के झूठे खोखले वादों का झूठ बोलने वाले धोखा देने वाले, मतदाताओं से छल करने वाली भाजपा कांग्रेस पर कोई आरोप लगाने का नैतिक अधिकार नहीं रखती है। भूपेश बघेल जी की सरकार बहुत अच्छा काम कर रही है।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि रमन सिंह काम करने वाली कांग्रेस सरकार पर मिथ्या आरोप लगाते हुये बड़ी-बड़ी बात न करें। वादाखिलाफी तो भाजपा की सरकारों की फितरत है। भाजपा केंद्र सरकार ने भी तो अच्छे दिन आयेंगे का वादा किया था लेकिन दिन नहीं आयें, विदेशों से कालाधान नही आया-एक पैसा नहीं आया। हर व्यक्ति के खाते में 15 लाख नहीं आये। जीरो टालरेंस अगेन्स्ट करप्शन भी झूठा वादा साबित हुआ। मजबूत लोकपाल भी नहीं आया। हर साल दो करोड़ युवाओं का रोजगार नहीं मिला लेकिन जीएसटी नोटबंदी से करोड़ो का रोजगार छिन गया। 5 वर्षो में 10 करोड़ लागो को रोजगार नहीं मिला। महिला आरक्षण बिल भी पारित नहीं कराया जा सका। वन रैंक वन पेंशन भी झूठा वादा निकला। महंगाई पर लगाम लगाने में मोदी सरकार विफल रही। स्वामीनाथन कमीशन की रिपोर्ट लागू का फसल की लागत पर 50 प्रतिशत दे पाने में मोदी सरकार विफल रही। केंद्र सरकार के कृषि एवं लागत मूल्य आयोग की रिपोर्ट में धान की लागत 1484 रूपये प्रति क्विंटल दर्शाया गया उसके बाद डीजल के दाम 14-15 रूपयों की एवं खाद की कीमतें 24 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। इन सबको देखते हुये किये गये वादों अनुरूप मोदी जी को 2500 रूपये एमएसपी की घोषणा करनी थी जो नहीं की गयी। मात्र 1750 रूपये की गयी। कांग्रेस शासित छत्तीसगढ़ राज्य 2500 रूपये में किसानों द्वारा उत्पादित धान की खरीदी की गई है। त्रिवेदी नेछत्तीसगढ़ की भाजपा सरकारों की वादाखिलाफी पर कहा है कि रमन सिंह पहले इसे देख लें और उसके बाद कांग्रेस की सरकार पर वादाखिलाफी के झूठे आरोप लगाये।

error: Content is protected !!